जिला स्तर पर गुरुनानक देव प्रांतीय ओलंपिक खेल प्रतियोगिताओं का हुआ आयोजन

राजगढ़। जिला मुख्यालय पर गुरुनानक देव प्रांतीय ओलंपिक खेल प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया। जो प्रतियोगिताएं जिला मुख्यालय पर आयोजित की गई उसके लिए ब्लाक स्तर पर कहीं कोई आयोजन नहीं किया गया। प्रचार-प्रसार के अभाव में तीन प्रतियोगिताओं में एक भी खिलाड़ी नहीं पहुंचा, जबकि कुछ में चंद टीमें ही शामिल हुई। उधर प्रतिबंध के बावजूद खिजाऋिडयों को खाना प्रदान करने के लिए पालीथिन का उपयोग किया गया।

बुधवार को जिला मुख्यालय स्थित स्टेडियम में खेल एवं युवक कल्याण विभाग के माध्यम से गुरुनानक देव प्रांतीय ओलंपिक खेल प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया। जिसमें कबड्डी, बॉलीवॉल, फुटबॉल, टेबल टेनिस, हॉकी, खो-खो सहित अन्य प्रतियोगिताएं रखी गई। लेकिन जो आयोजन किया गया, वह महज औपचारिक रहा। जिला स्तरीय प्रतियोगिताओं का अयोजन करने के पहले जिले में कहीं पर भी ब्लाक स्तर पर आयोजन नहीं किया गया, जिसके चलते पूरी तरह से आयोजन को लेकर प्रचार-प्रसार नहीं हो सका। खेल गतिविधियों से जुड़े जानकारों की मानें तो जिला स्तर का आयोजन करने के पहले तहसील या ब्लाक स्तर पर भी आयोजन होता है और वहीं से टीमें चयनित होने के बाद जिले पर पहुंचती है। लेकिन यहां पर सीधे जिले पर टीमें बुलाई गई। जो टीमें पहुंची उसमें कबड्डी को छोड़कर शेष सभी में गिनती के खिलाड़ियों व टीमों ने भाग लिया।

हॉकी, बॉस्केटबॉल, टेबल टेनिस में नहीं मिले खिलाड़ी

जो हॉकी देश का राष्ट्रीय खेल है उसमें एवं बॉस्केटबॉल व टेबल टेनिस में खेल एवं युवक कल्याण विभाग द्वारा प्रचार-प्रसार नहंी करने के कारण एक भी टीम जिला मुख्यालय पर आयोजन में शामिल होने के लिए नहीं पहुंची। सूत्रों की मानें तो इन विधाओं में खिलाडी न तो पहुंचे और न ही इन खेलों से जुड़े खिलाड़ियों को प्रतियेगिताओं की जानकारी थी। जबकि कबड्डी में सर्वाधिक 18 टीमों ने भाग लिया था। इसके अलावा फुटबॉल जैसे खेल में भी प्रचार-प्रसार के अभाव में राजगढ़ एवं ब्यावराा के अलावा अन्य क्षेत्रों से टीमें शामिल नहीं हो सकी।

बैन के बावजूद पालीथिन में दिया खाना

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा पॉलिथील को पूरी तरह से प्रतिबंधित कर दिया गया है। नरेंद्र मोदी ने देश के लोगों से पालीथिन का उपयोग नहीं करने का आव्हान किया है, लेकिन इसके बवजूद सरकारी महकमा पॉलिीथीन का मोह नहीं छोड़ पा रहा है। यही कारण है कि खेल गतिविधियों में भाग लेने के लिए जो टीमें जिला मुख्यालय पर पहुंची उन्हें पालीथिन में रखकर खाने के पैकेट दिए गए। जबकि यात्रा भत्ते के नाम पर खिलाड़ियों को कुछ भी नहीं दिया। खिलाड़ी खुद के पैसे लगाकर खेल गतिविधियों में शामिल होने पहुंचे।

यह रही विजेता टीमें

आज की प्रतियोगिताओं में वालीबाल में बालिका वर्ग में ब्यावरा प्रथम करण वास उपविजेता के तौर पर रहा। बालक वर्ग में ब्यावरा विजेता नरसिंहगढ़ उपविजेता, कबड्डी प्रतियोगिता में बालिका वर्ग में ब्यावरा विजेता के रूप में पचोर की छात्राएं विजेता रही। खो-खो प्रतियोगिता में बालिका वर्ग में सारंगपुर विजेता तथा राजगढ़ उपविजेता रहा। खो-खो बालक वर्ग में सारंगपुर विजेता तथा पचोर ने उपविजेता के रूप में स्थान प्राप्त किया।

फोटो 1211 आरएजे 03 राजगढ़। कबड्डी में भाग लिया खिलाड़ियों ने।

फोटो 1211 आरएजे 13 राजगढ़। जो खाने के पैकेट प्रदान किए गए, उन्हें पालीथिन में रखकर लाया गया।

Posted By: Nai Dunia News Network