राजगढ़-ब्यावरा। लूट की घटनाओं को अंजाम देने वाले गिरोह के तीन सदस्यों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। सिटी थाना ब्यावरा में एसपी प्रदीप शर्मा ने बताया कि इन आरोपितों से दो मामलों में 65 हजार रुपये बरामद किए हैं हालांकि दो अब भी फरार हैं। पुलिस को इन आरोपितों तक पहुंचने के लिए खासी मशक्कत करनी पड़ी। आरोपितों तक पहुंचने के लिए ब्यावरा थाने की पुलिस को न केवल 112 सीसीटीवी कैमरों को खंगालना पड़ा, बल्कि 10 हजार मोबाइल नंबरों की काल डिटेल भी निकालना पड़ी है। तब कहीं जाकर क्रमशः 98 हजार व 1 लाख 64 हजार की लूट को अंजाम देने वाले आरोपितों तक पुलिस पहुंच सकी है।

स्कूल प्रबंधन ने पुलिस स्टाफ का साफा पहनाकर स्वागत किया। मामले के खुलासे के दौरान एएसपी मनकामना प्रसाद, एसडीओपी नेहा गौर, टीआइ राजपालसिंह राठौर सहित पुलिस स्टाफ मौजूद थे। कार्रवाई में एसडीओपी, टीआई सहित मोहर सिहं मंडेलिया, एलएसभाटी, गुलाबचंद धाकड़, कोमल वर्मा, विष्णु मीणा, शैलेन्द्र सिहं बैस, देवेन्द्र सिहं मीणा, विजय सैनी, उमेश शर्मा, संजय बाथम आदि की अहम महत्वपूर्ण भूमिका रही। तकनीकी टीम में शामिल सायबर सेल से निरीक्षक प्रकाशचन्द्र पटेल, शशांक सिंह यादव, सुमित दोहरे एवं जयप्रकाश की भी महत्वपूर्ण भूमिका रही।

लूट-01ः बुजुर्ग से नाकबपोश तीन बदमाशों ने लूटे थे 98 हजार, 50 हजार बरामद

30 अप्रैल को ब्यावरा थाना के ग्राम खाकरा तेजा निवासी किसान विजयसिंह सौंधिया बैंक से 1 लाख 12 हजार रुपये निकाले थे। इसके बाद एक दूसरे स्थान पर 14 हजार रुपये की किस्त जमा करने के बाद वह शहीद कालोनी होकर एक निजी स्कूल के समीप से होकर गांव जा रहे थे। तब ही बाइक सवार नकाबपोश बदमाशों ने विजयसिंह की बाइक से 98 हजार रुपये लूट की घटना को अंजाम दिया था। नकाब बंधे होने के कारण वह उन्हें पहचान नहीं सके थे। इसके बाद पुलिस टीम ने जिले में चलाए जा रहे आपरेशन धराजगढ़ आईध के तहत कस्बा ब्यावरा शहर मे प्रवेश एवं निर्गम के रास्तों पर लगाए गए सीसीटीवी के माध्यम से निगरानी रखी गई और तथ्यों को खंगालना शुरू किया। शहर व आसपास के मलावर, गुना, सुठालिया व राजगढ़ की ओर के पहुंच मार्गों के टोल प्लाजा सहित प्रमुख स्थानों के मिलाकर 112 कैमरों के फुटैज देखे गए। घटना वाले दिन सुबह कुछ युवक संबंधित स्कूल के समीप एक कैमरे में नजर आए। वहीं दूसरे स्थानों पर भी देखे गए। इसके बाद उनकी पड़ताल शुरू की गई। इसके बाद जिले की तकनीकी टीम की मदद से करीब 14 स्थानों का डाटा डंप लेकर लगभग 10 हजार नंबर्स की सर्चिंग की गई। इसके बाद आरोपितों की पहचान अशोक सेहरिया (33 साल) निवासी ग्राम अरन्या थाना चाचौड़ा, जिला गुना, मनोज चौहान सेहरिया (23 साल) निवासी ग्राम अरन्या हाल निवासी 78 स्कीम विजय नगर इंदौर व प्रवेश मीणा (28 साल) निवासी ग्राम लेहरचा थाना चाचौड़ा जिला गुना के रूप में हुई। जिन्हें गिरफ्तार कर लिया व 50 हजार रुपये बरामद कर एक बाइक जब्त कर ली है।

लूट-02ः 2018 में महिला से लूटे थे 164 हजार, 15 हजार बरामद

विजयसिंह सौंधिया से 98 हजार रुपये लूटने की घटना को अंजाम देने वाले तीन आरोपितों में शामिल अशोक सेहरिया 33 वर्ष, निवासी ग्राम अरन्या थाना चांचौड़ा ने पुलिस पूछताछ के दौरान लूट की उस घटना को भी स्वीकार किया है। वर्ष 2018 में एक बुजुर्ग महिला भूलीबाई ब्यावरा से आरोपित अशोक व उसके अन्य दो साथियों ने 1 लाख 64 हजार रुपये लूटे थे। महिला मानस स्कूल की राशि जमा करने बैंक जा रही थी, तब ही लूट की घटना को आरोपितों ने अंजाम दिया था। घटना के बाद से ही आरोपित फरार चल रहे थे, लेकिन अब 30 अप्रैल को हुई लूट की घटना के आरोपितों को पुलिस ने दबोचा तो उन्होंने 5 साल पहले की लूट को भी स्वीकार कर लिया है। फिलहाल दो आरोपित इस लूट के फरार हैं। पुलिस ने आरोपित से 15 हजार रुपये बरामद किए हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close