रतलाम। शासकीय मेडिकल कालेज में लगातार कोविड पेशेंट का दबाव है। इसी कारण समय-समय पर जरूरी दवाइयों, उपकरणों की मांग लगातार बनी हुई है। इसी क्रम में कालेज के डीन डा. जितेंद्र गुप्ता ने महेंद्र बोथरा बताया कि लगभग 500 पीस एनआरबीएम आक्सीजन मास्क की तुरंत आवश्यता है, जो वर्तमान में बाजार में भी आसानी से उपलब्ध नहीं है। इस पर बोथरा ने श्री वर्धमान स्थानकवासी जैन श्रावक संघ नीमचौक के संघरत्न इंदरमल जैन (वकील साहब) से निवेदन किया तो उन्होंने शांताबाई-इंदरमल जैन परिवार की ओर से तत्काल 170 एनआरबीएम आक्सीजन मास्क मेडिकल कालेज को भेंट किए। अगले दो दिन में 500 ऐसे ही मास्क और यही परिवार इंदौर से मंगवाकर उपलब्ध करवा देगा। इस अवसर पर कालेज डीन डा. गुप्ता, इंदरमल जैन, महेंद्र बोथरा, सौरभ बोथरा आदि उपस्थित थे।

इम्युनिटी बढ़ाने के उपाय बताए

आर्ट आफ लिविंग द्वारा कोरोना महामारी से लड़ाई लड़ रहे योद्धाओं को स्वस्थ रहने के उद्देश्य से आयोजित किए जा रहे 10 दिवसीय आनलाइन कार्यक्रम धशौर्य' सत्र के पांचवें दिन श्री श्री आयुर्वेदा यूनिवर्सिटी बंगलुरु में अध्ययनरत डा. शिवानी अग्रवाल को आमंत्रित किया गया। उन्होंने प्रतिभागियों को कोरोना के भय से मुक्त होने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने इम्युनिटी बढ़ाने के उपाय भी बताए। यह जानकारी केंद्र के ओपी चौधरी ने दी।

जिला अस्पताल में होने लगा कोरोना पाजिटिव मरीजों का इलाज

रतलाम (नईदुनिया प्रतिनिधि)। जिला अस्पताल में भी कोरोना केयर सेंटर प्रारंभ हो गया है। तीस बेड के कोविड वार्ड में सोमवार को सात पाजिटिव मरीज भर्ती थे। साथ ही यहां बेड बढ़ाने की तैयारी भी चल रही है। कुल 95 बेड का कोविड वार्ड संचालित होगा, जहां कोरोना के मरीज ही भर्ती होंगे। यह व्यवस्था शासन के निर्देश के बाद शुरु की गई है। मेडिकल कालेज के कोविड अस्पताल में नए मरीजों के लिए बेड न होने की समस्या और व्यवस्थागत गंभीर संकट को ध्यान मे रखते हुए शासन ने निर्देश दिए कि जिला अस्पताल में भी कोरोना पाजिटिव मरीजों को भर्ती कर उपचार दिया जाए। इसके पहले जिला अस्पताल से कोरोना मरीजों को मेडिकल कालेज रेफर किया जाता था।

अब यहां पर मरीज को स्वस्थ होने या कोरोना का संक्रमण खत्म होने तक रखा जाएगा। सिविल सर्जन डा. आनंद चंदेलकर ने बताया कि जिला अस्पताल में अलग एक वार्ड कोरोना मरीजों के लिए शुरू कर दिया गया है। यहां 30 बेड में मरीज भर्ती होने लगे है और बेड बढ़ाए जाएंगे। अन्य मरीजों को संक्रमण का खतरा न हो, ऐसी व्यवस्था बनाई गई है।

कोरोना रिपोर्ट निगेटिव होने पर ही बेच पाएंगे सब्जी

रतलाम (नईदुनिया प्रतिनिधि)। कोरोना कर्फ्यू के कारण हरी सब्जी मंडी में भी क्रय-विक्रय बंद है। शहरवासियों को उनके घर पर सब्जी उपलब्ध कराने के लिए होम डिलीवरी की व्यवस्था लागू की जा रही है। इसकी तैयारी सोमवार को भी चलती रही। होम डिलीवरी करने वाले व्यापारियों एवं उनके सहयोगियों को कोरोना टेस्ट कराना अनिवार्य है और जिसकी रिपोर्ट निगेटिव आएगी वही सब्जी बेच पाएंगे। सोमवार को मंडी प्रशासन ने आवेदन करने वाले व्यापारियों, विक्रेता और उनके सहयोगी व वाहन चालक की सूची तैयार करवाई है। यह सूची एसडीएम को देने के बाद सभी के कोरोना टेस्ट कराए जाएंगे। रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद अनुमति दी जाएगी। मंडी सचिव एसएन गोयल ने बताया कि 100 से अधिक लोग आवेदन कर चुके हैं। अभी 27 मई तक सभी मंडियों को बंद किया गया है। आगे जिला प्रशाासन का जैसा आदेश होगा पालन किया जाएगा। सौदा पत्रक से खरीदी चल रही है, जिसके माध्यम से किसान अपनी उपज विक्रय कर सकते हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags