रतलाम। रतलाम जिले के बिलपांक थाना क्षेत्र के ग्राम धराड़ के समीप से एक खेत में बने धार्मिक स्थल से छेड़छाड़ करने की घटना के दो दिन बाद भी आरोपितों की गिरफ्तारी नहीं होने से ग्रामीणों का रोष फूट पड़ा। आरोपितों की गिरफ्तारी नहीं होने से बुधवार सुबह करीब दस बजे ग्रामीण सडक़ पर उतर आए। उन्होंने महू-नीमच हाईवे (फोरलेन) पर धराड़ पुलिस चौकी के सामने धरना देकर नारेबाजी की।

सूचना मिलने के बाद एसडीओपी ग्रामीण संदीप निगवाल, बिलपांक थाना प्रभारी दीपक शेजवार पुलिस दल के साथ मौके पर पहुंचे और ग्रामीणों को समझाने का प्रयास किया। ग्रामीणों का आरोप है कि दो दिन बाद भी आरोपियों की गिरफ्तारी क्यों नही हुई। आरोपितों का पता लगाकर उन्हें गिरफ्तार कर कड़ी करवाई की जाए। अज्ञात आरोपितों द्वारा 13 जुलाई को धार्मिक स्थल से छेड़छा की गई थी। घटना के बाद ग्रामीणों में रोष है।

तीन दिन पहले हुई घटना के बाद पुलिस ने अब तक किसी आरोपित को न तो गिरफ्तार किया और न ही किसी तरह से इस मामले में कोई अन्य कार्रवाई हुई। पुलिस को शिकायत मिली थी कि किसी अज्ञात सिरफिर ने धार्मिक स्थल पर कपड़ा जलाकर रख दिया था। पुलिस ने दो दिन में आरोपियों की गिरफ्तारी का आश्वासन दिया था, लेकिन 15 अगस्त निकलने के बाद भी आरोपित की गिरफ्तार नहीं होने पर ग्रामीणों में रोष फैल गया। ग्रामीणों ने महू-नीमच हाईवे स्थित धराड़ पुलिस चौकी के सामने धरना देकर जमकर नारेबाजी की। पुलिस अधिकारियों ने कहा कि जिसने भी घटना की है उसका पता लगाया जा रहा है, शीघ्र तलाश कर गिरफ्तार किया जाएगा। करीब एक घंटे बाद अधिकारियों के आश्वासन पर धरना समाप्त किया गया।

Posted By: Prashant Pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close