रतलाम (नईदुनिया प्रतिनिधि)। सरवन थाना क्षेत्र के ग्राम इंद्रावल खुर्द निवासी 30 वर्षीय ईश्वर राणा की संदिग्ध मौत का मामला हत्या का निकला। पुलिस जांच में पता चला कि ईश्वर की हत्या जमीन गिरवी रखने के विवाद में उसके ही बड़े भाई आरोपित 33 वर्षीय एलम राणा ने की थी। पुलिस ने उसे गुरुवार को गिरफ्तार कर लिया। उसे शुक्रवार को न्यायालय में पेश किया जाएगा।

उल्लेखनीय है कि 9 जुलाई 2021 की शाम ईश्वर राणा पुत्र फूलजी राणा निवासी इंद्रावलखुर्द की मौत हो गई थी। उसकी पत्नी मायके गई हुई थी। मां कालीबाई सरवन से काम करके घर लौटी तो ईश्वर पलंग पर बेसुध लेटा हुआ था। भोजन बनाने के बाद रात करीब साढ़े आठ बजे मां ने ईश्वर को जगाने का प्रयास किया तो वह नहीं उठा। उन्हें लगा कि ईश्वर ने ज्यादा शराब पी ली होगी, नशा उतरने के बाद जाग जाएगा। रात करीब 12 बजे कालीबाई ने ईश्वर को जगाने का पुनः प्रयास किया, लेकिन उसके शरीर से कोई हलचल नहीं हुई। शंका होने पर उन्होंने ने पास में ही रह रहे बड़े बेटे एलम राणा को बुलाया। एलम ने मां को बताया कि ईश्वर की मौत हो चुकी थी।

गुपचुप अंतिम संस्कार करने वाले थे

मामला शंकास्पद होने के बाद भी पुलिस को सूचना नहीं दी गई और 10 जुलाई की सुबह स्वजन उसके अंतिम संस्कार की तैयारी करने लगे। इसी बीच पुलिस को ईश्वर की संदिग्ध मौत व उसके सिर पर चोट का निशान होने की जानकारी मिली। थाना प्रभारी शिवा निनामा ने मौके पर पहुंचकर शव पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भिजवाया था। मामला शंकास्पद होने से डाक्टरों की पैनल से पोस्टमार्टम कराया था। पीएम रिपोर्ट में मौत किसी भारी वस्तु से सिर में चोट आने से होना बताया। एलम ने जमीन गिरवी रखने के विवाद में छोटे भाई ईश्वर की हत्या की थी। थाना प्रभारी निनामा ने बताया कि आरोपित एलम के खिलाफ भादंवि की धारा 302, 506, 120 के तहत प्रकरण दर्ज किया गया है।

शराब पीने के दौरान हुआ था विवाद

घटना वाली शाम ईश्वर, उसका भाई एलम व गांव में रहने वाला उनका मित्र हकरू तीनों एलम के घर बैठकर शराब पी रहे थे। तब ईश्वर ने एलम से कहा था कि उसने अपने हिस्से की जमीन गिरवी रख दी है। तेरी भी रखवा देता हूं। इस पर एलम ने आपत्ति ली तो उनके बीच विवाद हो गया। गुस्से में आकर एलम ने लोहे की राड व लाठी से ईश्वर के साथ मारपीट की थी। ईश्वर के सिर पर चोट आने से उसकी मौत हो गई थी। एलम ने हकरू को जानकारी किसी को नहीं देने के लिए धमकाया था, इसलिए उसने भी किसी को जानकारी नहीं दी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद पुलिस को पता चला कि घटनास्थल पर हकरू भी था। हकरू के बयान लिए तो उसने सारा राज उगल दिया।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local