रतलाम (नईदुनिया प्रतिनिधि)। जिले में सरकारी व गैर सरकारी कालेज डेढ़ साल बाद बुधवार को खुले। पचास प्रतिशत विद्यार्थयों की उपस्थिति से कक्षाएं शुरु की जाना थी, लेकिन मात्र पांच प्रतिशत विद्यार्थी ही कालेज पहुंचे। जिले के 12 सरकारी कालेजों की पीजी, यूजी कक्षाओं में 17 हजार सीटों पर अब तक दो राउंड में 13 हजार विद्यार्थी प्रवेश ले चुके हैं। 17 सितंबर से तीसरे राउंड की प्रवेश प्रक्रिया शुरू होगी। शहर के अग्रणी साइंस एंड आटर्स कालेज की 4700 सीटों में अभी 300 खाली हैं। इसी तरह कामर्स कालेज, गर्ल्स कालेज समेत में भी सीटें खाली हैं। कोरोना गाइड लाइन के बीच बीए, बीएससी द्वितीय और तृतीय वर्ष की कक्षाएं बुधवार को शुरू हो गई हैं, जिसमें पचास प्रतिशत उपस्थिति के साथ तीन-तीन दिन के अंतर में दोनों कक्षाओं के विद्यार्थियों को संकायवार बुलाया जाएगा। इसके लिए विद्यार्थियों को उनकें मोबाइल पर सूचना दी जा रही है। तय दिन पर ही विद्यार्थी कक्षाओं में आएंगे। शेष दिन आनलाइन कक्षाओं में पढ़ेंगे। अभी आफलाइन के साथ आनलाइन कक्षाएं निरंतर जारी रहेगी। आफलाइन कक्षाओं में आने की अनिवार्यता अभी नहीं हैं।

प्रभारी प्राचार्य डा. यशवंत कुमार मिश्र ने बताया कि कोरोना गाइड लाइन का पालन करते हुए आफलाइन कक्षाएं चालू कर दी हैं। पहले दिन छात्रों की उपस्थिति पांच प्रतिशत ही रही है। कई शर्तो व बदलाव के बीच कक्षाए संचालित करना है। एक अक्टूबर से बीए व बीएससी प्रथम वर्ष की कक्षाएं भी चालू कर देंगे। कालेजों में विद्यार्थियों और शिक्षकों के लिए टीकाकरण अनिवार्य किया गया है। सभी को कम से कम पहला डोज जरूर लगा होना चाहिए। 18 साल से कम उम्र वाले विद्यार्थियों को अभिभावकों के घोषणा पत्र के आधार पर कक्षाओं में आने दिया जाएगा।

अब चालीस मिनट का एक कालखंड होगा

प्रभारी प्रचार्य डा. यशवंत कुमार मिश्र ने बताया कि कोरोनाकाल में दो साल के लिए सभी कक्षाओं में अब चालीस मिनट का प्रत्येक विषय का एक कालखंड होगा। इसके पहले एक घंटे का एक कालखंड था। राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 में यह प्रविधान है कि एक विषय को एक सत्र में 90 घंटे कालेज में पढ़ाना है। ऐसी स्थिति में कालखंड का समय घटाने के बाद दिनों की संख्या बढ़ा दी है, ताकि 90 घंटे पढ़ाई हो सके। प्राचार्य ने बताया ने बताया कि प्रथम वर्ष में प्रवेश लेने वाले विद्यार्थियों को 15 से 25 सितंबर तक नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति का प्रशिक्षण भी चालू कर दिया गया है। इसके बाद इन्हें एक अक्टूबर से नियमित कक्षाओं में 50 प्रतिशत उपस्थिति के साथ बुलाया जाएगा।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local