रतलाम (नईदुनिया प्रतिनिधि) इंदौर के एक व्यक्ति द्वारा शहर के एक युवक के साथ इंटरनेट मीडिया पर कार बेचने के नाम पर 49 हजार रुपये की धोखाधड़ी करने का मामला सामने आया है। आरोपित ने रुपये पहले खाते में डलवा लिए। इसके बाद कार नहीं भेजी। बाद में रुपये भी नहीं लौटाए। युवक की रिपोर्ट पर औद्योगिक क्षेत्र पुलिस ने आरोपित कन्हैयालाल कुमावत निवासी नेहरू नगर इंदौर के खिलाफ भादवि की धारा 420 में प्रकरण दर्ज किया है।

पुलिस के अनुसार 23 वर्षीय लोकेश गेहलोत पुत्र मनोहरलाल गेहलोत निवासी जवाहर नगर ने 6 सितंबर 2021 को इंटरनेट मीडिया पर अल्टो कार-800 (एमपी-09/सीआर-4681) का विज्ञापन देखा था। कार पसंद आने पर उन्होंने आरोपित कन्हैयालाल से बात कर विक्रेता व कार की डिटेल मांगी। कन्हैयालाल ने कार की कीमत 65 हजार रुपये बताई। डिटेल आने के बाद कार 49 हजार रुपये में खरीदने का सौदा तय हुआ। कन्हैयालाल ने बैंक अकाउंट नंबर भेजकर लोकेश को 49 हजार रुपये खाते में जमा कराने के लिए कहा। इसके बाद लोकेश ने उक्त खाते में रुपये जमा करा दिए थे। कुछ दिन बाद भी कार नहीं आई तो लोकेश को शंका हुई। फोन पर संपर्क करने पर कन्हैयालाल ने लोकेश का फोन ब्लैक लिस्ट में डाल दिया। इस प्रकार लोकेश को साथ धोखाधड़ी की गई। प्रकरण दर्ज कर आरोपितों की तलाश की जा रही है।

बैंक प्रबंधक की लोकायुक्त को शिकायत

आलोट। स्थानीय सेंट्रल बैंक शाखा प्रबंधक के कार्यकाल की जांच कराने की मांग को लेकर गुरुवार को लोकायुक्त भोपाल के नाम का ज्ञापन एसडीएम राजेश कुमार शुक्ला को सौंपा गया। ज्ञापन के दौरान अमित चौधरी ने बैंक मैनेजर द्वारा हितग्राहियों से अवैध वसूली का आरोप लगाया। ज्ञापन की प्रतिलिपि सीबीआइ, अधीक्षक भोपाल, कलेक्टर को भी प्रेषित की गई है। ज्ञापन देते समय अशोक पांचाल, शिवनारायण पाटीदार, गौरव पामेचा, अनिल पोरवाल, योगेश निगम, महेंद्र शर्मा, जुझार, वासुदेव, कचरूलाल आदि मौजूद थे। मामले में शाखा प्रबंधक एमएल चौहान ने बताया कि सभी आरोप बेबुनियाद है। अमित चौधरी नियम के विपरीत कार्य करने व हफ्ता वसूली के लिए दबाव बना रहे हैं। इसकी शिकायत एसडीएम से भी की थी। वरिष्ठ अधिकारियों को भी अवगत करा दिया गया है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local