आलोट। नगर व आसपास के दुर्गामाता मंदिरों, स्थलों पर चल रहे अखंड ज्योत, पाठ आदि धार्मिक अनुष्ठानों की पूर्णाहुति गुरुवार महानवमी को हवन, आरती, कन्या भोज व प्रसाद वितरण के साथ की गई। सार्वजनिक नवदुर्गा पंडालों में देर रात हवन के आयोजन किए गए। शनिवार को मूर्तियों का विसर्जन किया जाएगा। उधर, नगर परिषद द्वारा शुक्रवार विजयादशमी को नगर के दशहरा मैदान में 51 फीट ऊंचे रावण के साथ कुंभकर्ण व मेघनाथ के पुतलों तथा विक्रमगढ़ में 21 फीट ऊंचे रावण के पुतले का दहन परंपरानुसार किया जाएगा। हालांकि इस दौरान की जाने वाली आतिशबाजी की प्रस्तुति नहीं होगी।

राड़ीवाली नवदुर्गा माताजी मंदिर पर महानवमी को माताजी की प्रतिमाओं को चोला चढ़ाया गया। तत्पश्चात हवन कर आरती की गई। इसके बाद कन्या पूजन, कन्या भोज व प्रसाद वितरण के आयोजन किए गए। धार्मिक अनुष्ठानों की पूर्णाहुति हुई। इसी प्रकार रामसिंह दरबार स्थल परिसर मे भादवा माता मंदिर पर पूजा के बाद दोपहर ढाई बजे से हवन शुरू किया गया। इसके बाद संध्या आरती की गई और कन्या भोज के बाद प्रसाद वितरण का आयोजन किया गया। मां कालका दक्षिणेश्वरी मंदिर पर प्रातः अभिषेक किया गया। इसके बाद हवन व संध्या को आरती की गई। लालमाता मंदिर पर महानवमी को रात्रि में हवन शुरू कर समस्त देवी-देवताओं का आह्वान कर आहुतियां दी गई और यह क्रम रातभर चला। जबकि गायत्री शक्ति पीठ के जन्मेजय परिवाजक ने बताया कि नवरात्र जाप की पूर्णाहुति शनिवार को पंच कुंडीय यज्ञ व विविध संस्कार के बाद कन्याभोज के आयोजन के साथ की जाएगी।

लायंस क्लब आफ आलोट आस्था द्वारा रानीपुरा में मनाए जा रहे सार्वजनिक नवदुर्गा उत्सव में पहुंच कर मातारानी की आरती का लाभ लिया गया। तत्पश्चात महिलाओं-बालिकाओं द्वारा खेले जा रहे गरबा के प्रतियोगियों का लकी ड्रा निकालकर चयन किया गया। श्रेष्ठ प्रदर्शन करने वालों को पुरस्कार प्रदान किए गए। क्लब अध्यक्ष प्रमिला पामेचा, शीतल देसरला, माया पांचाल, निर्मला काकानी, साधना गोयल, पुष्पा जैन, वंदना काला, राजश्री पंवार, अन्नापूर्णा काला आदि सदस्याएं उपस्थित थीं। संचालन राजश्री पंवार ने किया। आभार शीतल देसरला ने माना।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local