रतलाम(नईदुनिया प्रतिनिधि)। जिले में स्वास्थ्य सेवाओं की स्थिति बदतर होती जा रही है। इसकी बानगी गुरुवार को बाजना विकासखंड के कुंदनपुर उपस्वास्थ्य केंद्र पर देखने को मिली। यहां एक महिला को लेकर पहुंचे स्वजनों को केंद्र पर ताला लगा मिला तो मजबूरी में उन्हें बाहर खुले में ही प्रसूति कराना पड़ी। इस घटना का वीडियो भी वाट्सएप पर वायरल हुआ है।

बाजना विकासखंड के ग्राम बाकी निवासी लक्ष्मी पत्नी महावीर डोडियार (19) को गुरुवार को प्रसव पीड़ा होने पर स्वजन गांव से चार किमी दूर कुंदनपुर उपस्वास्थ्य केंद्र पर शाम करीब छह बजे लेकर पहुंंचे। यहां केंद्र पर ताला लगा हुआ था। इधर महिला की स्थिति भी बिगड़ने लगी तो स्वजन ने केंद्र के बाहर ही जमीन पर जैसे-तैसे प्रसूति करवाई। कुछ देर बाद एएनएम रेशम चारेल भी केंद्र पर पहुंच गई, लेकिन तब तक महिला ने बच्चे को जन्म दे दिया था। स्वजन महिला व शिशु दोनों को वापस घर ले गए। फिलहाल दोनों की तबीयत ठीक बताई गई है।

स्वजनों में दिखी नाराजगी

केंद्र पर ताला लगा होने से प्रसूता के स्वजनों में नाराजगी दिखी। इनमें से एक ने पूरी घटना का वीडियो बनाकर वायरल भी कर दिया। जानकारी मिलने पर स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी अमले का बचाव करते नजर आए। मालूम हो कि बाजना क्षेत्र आदिवासी बहुलता वाला है। यहां स्वास्थ्य सुविधाओं को लेकर कई कमियां है, जिससे संस्थागत प्रसव में भी माता व शिशु दोनों को खतरा बना रहता है।

एएनएम के घर गमी थी तो लगा दिया ताला

प्रसूति के बाद केंद्र पर पहुंची एएनएम रेशम ने महिला व बच्चे को केंद्र पर ही रखने की बात कही, लेकिन स्वजन तब तक जाने की तैयारी कर चुके थे। एएनएम ने बताया कि शाम तक केंद्र पर ही थी, परिवार में एक गमी होने के कारण कुछ देर के लिए वहां गई थी। रात में भी केंद्र पर ही ड्यूटी कर रही हूं। प्रसूति के बाद जब दोनों को केंद्र पर ही रखने के लिए कहा तो स्वजन नहीं माने और घर लेकर चले गए। इधर प्रसूता लक्ष्मी के ससुर मोतीलाल डोडियार ने बताया कि शाम करीब छह बजे हम गांव से वाहन करके केंद्र पर गए थे। वहां ताला लगा था। बहू की हालत खराब होने लगी तो मजबूरी में प्रसूति बाहर खुले में करवाना पड़ी। हमारे स्वजन ने ही प्रसूति करवाई। केंद्र पर कोई सुविधा नहीं थी तो हम बहू व बच्चे को वापस घर लेकर आ गए।

इनका कहना है

एएनएम केंद्र पर ही थी, परिवार में किसी की गमी के चलते कुछ देर के लिए बाहर गई थी। प्रसूति के बाद भी बच्चे व महिला को केंद्र पर रखने की सुविधा है। जानबूझकर घटना को तूल दिया जा रहा है।

अनम शेख, बीएमओ बाजना

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close