रतलाम। नईदुनिया प्रतिनिधि। Madhya Pradesh News जिला अस्पताल में चूहों का आतंक बना हुआ है। आईसीयू में आठ दिन से भर्ती पिता की देखरेख कर रहे अजय सिंह निवासी भवानीमंडी के पैर का अंगूठा शनिवार रात चूहों ने कुतर दिया। सुबह अस्पताल स्टाफ को बताने पर ड्रेसिंग की गई। इससे पहले भी इसी वार्ड में दो मरीजों के अंग चूहे कुतर चुके हैं।

चूहों की समस्या से निपटने के लिए कलेक्टर ने अस्पताल प्रबंधन को नियमित पेस्ट कंट्रोल कराने के निर्देश दिए थे पर अभी तक ठेका नहीं हो पाया है। इससे मरीजों और अटेंडरों को डर बना रहता है। अजयसिंह ने बताया कि वे अपने पिता नरवर सिंह का इलाज कराने जिला अस्पताल में रुके हैं। शनिवार रात पिता के बेड के पास ही फर्श पर सोए थे। आधी रात को पैर के अंगूठे को चूहों ने कुतर दिया।

आईसीयू में शाम होते ही बड़े-बड़े चूहे घूमने लगते हैं। यहां कोई सामान सुरक्षित नहीं है। इससे पहले 5 अगस्त 2019 को भी आईसीयू में भर्ती सूरजसिंह भाटी के एड़ी का हिस्सा चूहे कुतर गए थे। इसके बाद वृद्ध महिला मरीज के हाथ का अंगूली को भी चूहों ने हल्का कुतर दिया था। मालूम हो कि चूहे अस्पताल के गद्दे, चादर भी कुतरने के साथ ही दवाइयों को भी नुकसान पहुंचा रहे हैं।

जिला अस्पताल के सिविल सर्जन डॉ. आनंद चंदेलकर ने बताया कि चूहे ने पैर में हल्का-सा कुतरा है। ऐसी जानकारी मुझे दी गई है। पेस्ट कंट्रोल के टेंडर की प्रक्रिया चल रही है। जब तक नया भवन नहीं बनेगा तब तक चूहों की समस्या से स्थायी छुटकारा मिलना मुश्किल है। पेस्ट कंट्रोल से राहत मिल सकती है।

Posted By: Hemant Upadhyay

fantasy cricket
fantasy cricket