रतलाम (नईदुनिया प्रतिनिधि)। शहर विधायक व अभा त्रिस्तुतिक जैन श्रीसंघ के राष्ट्रीय परामर्शदाता चेतन्य काश्यप ने नीमवाला उपाश्रय में चातुर्मास के लिए विराजित लोकसंत आचार्य जयंतसेन सूरीश्वर जी की शिष्या व आचार्य नित्यसेन सूरीश्वर जी, जयरत्न सूरीश्वर जी की आज्ञानुवर्ती साध्वी पुण्य दर्शना श्रीजी आदि ठाणा-तीन के दर्शन-वंदन कर आशीर्वाद प्राप्त किया। इस मौके पर साध्वीश्री ने कहा कि पूर्व जन्म के कर्मों के प्रतिफल स्वरूप लक्ष्‌मी की कृपा कई लोगों को प्राप्त होती है, लेकिन लक्ष्‌मी के प्रति आसक्ति छोड़कर जो उसे सेवा व पुण्य के कार्यों में लगाता है उसी का जीवन सार्थक होता है। काश्यप द्वारा लक्ष्‌मी जी की कृपा का सदुपयोग कर जीवन को सार्थक कर रहे हैं।

रतलाम त्रिस्तुतिक जैन संघ द्वारा इस मौके पर सेवा कार्यों के लिए विधायक काश्यप का अभिनंदन किया गया। त्रिस्तुतिक जैन श्रीसंघ के अध्यक्ष राजेंद्र लुणावत, उपाध्यक्ष सतीश खेड़ावाला, पूर्व अध्यक्ष व चातुर्मास समिति के डा. ओसी जैन ने कहा कि विधायक काश्यप के प्रयासों से रतलाम को मेडिकल कालेज की अभिनव सौगात मिली है। कोरोना काल में रतलाम के साथ-साथ आसपास के कई जिलों के लिए मेडिकल कालेज वरदान साबित हुआ है। काश्यप द्वारा आक्सीजन प्लांट की स्थापना व अन्य प्रबंधों के माध्यम से कोरोना पीड़ितों की लगातार सेवा की गई। चेतन्य काश्यप फाउंडेशन के माध्यम से कुपोषण मुक्ति का अभियान भी वे चला रहे हैं। उन्होंने सेवा के क्षेत्र में लगातार कार्य कर पीड़ित मानवता को राहत दी है।

विधायक काश्यप ने कहा कि गुरुदेव जयंतसेन सूरीश्वर जी के आशीर्वाद व प्रेरणा से व्यक्तिगत रूप से सेवा कार्य कर पाना उनके लिए सौभाग्य की बात है। उन्होंने कहा कि कोरोना काल में महामारी के दौरान उन्होंने कभी सम्मान व अभिनंदन ग्रहण नहीं किया। समाज का अभिनंदन पहली बार स्वीकार कर रहे हैं।श्रीसंघ के कोषाध्यक्ष चितरंजन लुणावत, अभय सकलेचा, शांतिलाल मालक, डा. निर्मल मेहता, उपेंद्र कोठारी, सुरेन्द्र गंग, कमलेश भंडारी, शेखर घोचा, सुशील छाजेड़, राजकमल जैन, श्रीपाल दुग्गड़, मोहनलाल चोपड़ा, नितेश तलेरा, महिला परिषद अध्यक्ष मंजू मेहता आदि मौजूद रहे। संचालन राजेश खाबिया ने किया। आभार सचिव निर्मल कटारिया ने माना।

आज मनाएंगे धूप दशमी पर्व

दिगंबर जैन समाज के पर्वाधिराज पर्युषण महापर्व धार्मिक उल्लास से मनाया जा रहा है। पर्व के तहत दिगंबर जैन मंदिरों में प्रतिदिन अनेक धार्मिक कार्यक्रम हो रहे हैं। गुरुवार को धूप दशमी मनाई जाएगी। इस दिन नगर के सभी दिगंबर जैन मंदिरों में दर्शन-वंदन कर धूप-ध्यान किया जाएगा। दिगंबर जैन समाज का दस दिवसीय पर्युषण पर्व जप-तप, त्याग-तपस्या व धर्म-आराधना कर मनाया जा रहा है। समाजजनो द्वारा प्रतिदिन सुबह जिनेंद्र भगवान के अभिषेक, शांतिधारा, नित्य नियम व दसलक्षण धर्म की पूजा-अर्चना की जा रही है। श्रीचंद्रप्रभ दिगंबर जैन श्रावक संघ संयोजक मांगीलाल जैन ने बताया कि पर्युषण पर्व के चौथे दिन जिनेंद्र भगवान की प्रथम शांतिधारा करने का लाभ दिलीप जैन व द्वितीय शांति धारा करने का लाभ कमलेश जैन, बाबूलाल जैन परिवार ने लिया। अष्टमी महापर्व पर डा. राजेश पाटनी ने प्रथम व विकास जैन ने द्वितीय शांतिधारा करने का लाभ लिया। पर्व के दौरान पल्लवीका शाह व स्वीटी सेठ के सात उपवास की तपस्या चल रही है। विद्या सिंधू महिला मंडल द्वारा प्रतिदिन आनलाइन सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। इनमें समाजजनों द्वारा बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया जा रहा है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local