रतलाम (नईदुनिया प्रतिनिधि)। मोहन नगर में पेट्रोल पंप के पीछे स्थित प्लास्टिक पाइप के अवैध खुले गोदाम में गुरुवार सुबह आग लग गई। कुछ देर में ही आग तेजी से फैल गई और बड़ी लपटें निकलने लगी। प्लास्टिक पाइप जलने से उठने वाला धुआं पांच किलोमीटर दूर से दिखाई दे रहा था। दमकलों व पानी के टैंकरो की मदद से आग पर करीब दो घंटे बाद काबू पाया जा सका। आग बुझाने के दौरान दीनदयाल थाना प्रभारी अशोककुमार ननामा का एक हाथ भी झुलस गया। मामले में पुलिस ने रहवासी की रिपोर्ट पर अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया है। नगर निगम ने भी बगैर अनुमति गोदाम में पाइप आदि रखने के चलते गोदाम संचालक राजेश पगारिया के खिलाफ प्रकरण दर्ज करने के लिए एसपी व टीआइ औद्योगिक क्षेत्र थाना को पत्र लिखा है।

मोहन नगर में राजेश पगारिया के करीब 85 बाय 235 वर्गफीट के भूखंड पर केवल बाउंड्रीवाल बनाकर बनाए गए गोदाम में बड़ी मात्रा में कृषि उपयोगी पीवीसी व प्लास्टिक के पाइप रखे थे। वहां सुरक्षा या आग बुझाने संबंधी इंतजाम नहीं थे। न ही निगम से गोदाम की अनुमति ली गई थी। गुरुवार सुबह करीब 11 बजे वहां रखे पाइपों में आग लग गई, जिसने कुछ ही देर में विकराल रूप ले लिया। आग बुझाने के दौरान करीब तीन घंटे तक आसपास के मार्गों से आवागमन भी रोका गया। गोदाम के पास कचरा जलाने से आग लगने की बात कही जा रही है।

सूचना मिलने पर एसपी गौरव तिवारी, एसडीएम अभिषक गौतम, सीएसपी हेमंत चौहान, दीनदयाल थाना प्रभारी अशोककुमार ननामा, औद्योगिक क्षेत्र थाना प्रभारी ओपी सिहं, नगर निगम अधिकारी जीके जायसवाल सहित कई अधिकारी, पुलिस व होमगार्ड के जवान, पूर्व पार्षद पवन सोमानी आदि मौके पर पहुंचे। आवागमन रोकने के साथ ही बिजली आपूर्ति भी बंद की गई। औद्योगिक क्षेत्र पुलिस ने मोहन नगर व गोदाम की एक दीवार से लगे गणेश नगर निवासी आरएन मौर्य की रिपोर्ट पर अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया है। गोदाम संचालक राजेश पगारिया से मोबाइल पर संपर्क करने का प्रयास किया, लेकिन उनका मोबाइल बंद मिला।

घर खाली कराए, गैस टंकियां निकलवाई

मौके पर पहुंचे पुलिस, प्रशासन व नगर निगम के फायर ब्रिगेड के अमले ने आग बुझाने के इंतजाम किए। आग आसपास के घरों में न फैले, इसके लिए गैस टंकियां बाहर निकलवाकर घर भी खाली कराए गए। आग की लपटों के कारण आसपास के घरों की छतों पर रखी पानी की टंकियां भी पिघल गई, वहीं घरों में रखा सामान भी खराब हो गया।

नगर निगम वसूलेगा पांच लाख रुपये

आग बुझाने में नगर निगम की तीन, इप्का लैब की एक, नगर परिषद धामनोद व नामली की फायर ब्रिगेड, 10 पानी के टैंकर, तीन जेसीबी मशीन, 50 श्रमिक लगाए गए। आयुक्त सोमनाथ झारिया ने बताया कि आग बुझाने में पांच लाख रुपये खर्च होने पर गोदाम संचालक राजेश पगारिया (पगारिया ट्रेडर्स) निवासी शुभम विहार को यह राशि तीन दिन में निगम में जमा कराने का नोटिस दिया है।

टीवी की छत्री, फ्रीज आदि को भी पहुंचा नुकसान

मौर्य द्वारा पुलिस थाने पर लिखाई रिपोर्ट में बताया गया है कि आग से उनके घर के कपड़े व सामान को नुकसान पहुंचा है। वहीं बलवंतसिंह सिसौदिया, कलावती बौरासी, रायसिंह चौहान, राजू तिवारी, सीताबाई प्रजापत, राजकुंवर पंवार, गोपाल पंड्या, बगदीराम प्रजापत, सलमान पुत्र सलीम के मकान को नुकसान पहुंचा व सामान भी खराब हो गया।

आवासीय क्षेत्रों में नहीं होंगे खतरनाक व्यापार

आगजनी की घटना के बाद कलेक्टर कुमार पुरुषोत्तम ने शहर में आवासीय क्षेत्रों में संचालित किए जा रहे आमजन के स्वास्थ्य के प्रतिकूल, खतरनाक व्यापार व्यवसाय हटाए जाने के निर्देश अधिकारियों को दिए।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local