ताल। शिक्षा विभाग द्वारा निर्मित शासकीय कन्या विद्यालय के समीप तीन वर्षों से जिस भवन में महाविद्यालय स्तर के छात्र-छात्राएं पढ़ाई कर रहे थे, वहां अब आबकारी विभाग का कार्यालय लगेगा। इसे लेकर आबकारी विभाग द्वारा भवन की रंगाई-पुताई शुरू कर दी गई है उधर, शासकीय कर्मचारी संघ के तहसील अध्यक्ष प्रताप नारायण दीक्षित ने इस पर आपत्ति लेते हुए बताया कि शिक्षा विभाग द्वारा निर्मित भवन में विद्यार्थियों के लिए बैठक की पर्याप्त व्यवस्था नहीं है और अन्य विभाग को वहां पर शिफ्ट कर परेशानियां बढ़ाई जा रही है, जो गलत है।

महाविद्यालय के छात्र सोनू राठौड़ ने बताया कि दो हफ्ते पहले महाविद्यालय के छात्र-छात्राओं को नए भवन में शिफ्ट किया गया। इससे पहले सैकड़ों विद्यार्थी इसी भवन में महाविद्यालय स्तर की पढ़ाई पिछले तीन वर्षों से कर रहे थे, तब किसी अधिकारी को भवन की जर्जर स्थिति नजर नहीं आई और जब आने वाले शिक्षा सत्र में प्राथमिक स्तर के विद्यार्थियों के लिए पर्याप्त व्यवस्था को लेकर भवन की उपयोगिता रखी तो भवन जर्जर नजर आने लगा। आबकारी कार्यालय अन्य भवन में लगाना चाहिए।

अन्य भवन भी है खाली

शिक्षा विभाग के जिस भवन में आबकारी कार्यालय लगाने के लिए तैयारियां की जा रही है, उसे लेकर आपत्ति और विरोध सामने आने लगा है। ऐसे में नगर में अन्य दूसरे शासकीय भवन पुरानी तहसील कार्यालय के पास वन विभाग के भवन, पुराना थाना परिसर, पुराना नगर परिषद कार्यालय और पुराना पशु चिकित्सालय भवन भी खाली है, जिनका उपयोग नहीं हो रहा है। इनमें आबकारी विभाग का कार्यालय शिफ्ट किया जा सकता है।

पहली बार खुल रहा आबकारी कार्यालय

नगर में आबकारी स्तर के अधिकारियों के लिए कार्यालय अभी तक नहीं होने से आलोट और जावरा से अधिकारियों को अप-डाउन करना होता था। ऐसे में वर्षों बाद पहली बार आबकारी विभाग द्वारा नगर में एसआइ स्तर के अधिकारियों को क्षेत्र के लिए नियुक्त किया जा रहा है।

वर्तमान में स्थिति जर्जर

इस संबंध में आबकारी विभाग के एएसआइ कृष्ण कुमार ने बताया कि एसडीएम आलोट व जिला कार्यालय से अनुमति मिलने के बाद दिए गए भवन में रंगाई-पुताई की जा रही है। वर्तमान में स्थिति जर्जर है। वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देशानुसार व्यवस्था की गई है।

वरिष्ठों से मार्गदर्शन लेंगे

ब्लॉक शिक्षा अधिकारी महेंद्रसिंह पंवार ने बताया कि जो भवन आबकारी विभाग को दिया गया है, वह वर्तमान में जर्जर है। विद्यार्थियों के लिए उचित नहीं है। वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देशानुसार अनुमति दी गई है। कोई आपत्ति है तो वरिष्ठ अधिकारियों से मार्गदर्शन लिया जाएगा।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस