रतलाम। जिले में अतिवृष्टि से फसलों व गांवों में हुए नुकसान को देखने और लोगों की समस्याएं समझने आए प्रभारी मंत्री और प्रदेश के कृषि मंत्री सचिन यादव बुधवार को जावरा के हनुमंतिया में कांग्रेस की गुटबाजी के चलते असहज हो गए। निरीक्षण के दौरान गांव में ही कांग्रेस के दो गुट आमने-सामने हो गए।

इससे नाराज हुए प्रभारी मंत्री ने खुद वाहन चलाया और भाजपा विधायक डॉ. राजेंद्र पांडेय को साथ लेकर गांव पिपलौदी पहुंचे। यहां मंत्री व विधायक ने साथ में दौरा किया और ग्रामीणों की समस्याएं जानी। इसके बाद जावरा से कांग्रेस प्रत्याशी रहे केके सिंह कालूखेड़ा को मंत्री यादव ने वाहन में साथ लिया और आगे के लिए रवाना हुए।

दोपहर करीब 12 बजे गांव हनुमंतिया पहुंचे मंत्री यादव, केके सिंह कालूखेड़ा अधिकारियों के साथ गांव में दौरे पर थे। इस दौरान वहां जावरा विधायक डॉ. पांडेय भी आ गए। निरीक्षण करते हुए एक स्थान पर कांग्रेस के बागी रहे यूसुफ कड़पा के समर्थक व ग्राम सरपंच कृष्णा पाटीदार ने मंत्री से कुछ लोगों की समस्या बताना चाही।

इधर, कांग्रेस नेता कीर्तिशरण सिंह ने मंत्री से कहा कि चुनाव में कांग्रेस को हराने वालों को तवज्जो नहीं दी जाए। इस दौरान दोनों गुट के लोगों में जमकर कहासुनी हो गई और हाथापाई होने की स्थिति बन गई। इससे मंत्री नाराज हो गए और वहां मौजूद भाजपा विधायक को भी अपने साथ वाहन में लेकर खुद ही वाहन चलाते हुए गांव पिपलौदी पहुंचे।