Ratlam News: रतलाम (नईदुनिया प्रतिनिधि)। कनेरी मार्ग पर शहर से करीब पांच किलोमीटर दूर स्थित विंध्यवासिनी कालोनी में अपनी दूसरी पत्नी व दो मासूम बच्चों की हत्या कर शव घर के बरामदे में गाड़ने के मुख्य आरोपित रेलवेकर्मी (गैंगमेन) सोनू तलवाडी उर्फ सलमान शेख व उसके सहयोगी दोस्त बंटी कैथवास को पुलिस ने सोमवार शाम कड़ी सुरक्षा के बीच न्यायालय में पेश किया। पुलिस ने घटना के बारे में पूछताछ के लिए आरोपितों को पुलिस रिमांड पर देने की मांग की। न्यायालय ने दोनों आरोपितों को 25 जनवरी तक पुलिस रिमांड ओर रखने के आदेश दिए।

न्यायालय से आदेश मिलने के बाद दीनदयाल नगर पुलिस दोनों आरोपियों को थाने ले गई, जहां उनसे घटना के विभिन्न बिंदुओं पर पूछताछ की जाएगी ओर पता लगाया जाएगा कि इस घटना में और कोई अन्य तो शामिल नहीं है । अब तक आरोपित सोनू ने पारिवारिक कलह के चलते पत्नी व बच्चो की हत्या कर शव दोस्त बंटी की मदद से गाड़ना बताया है। आरोपितों से यह भी पूछताछ की जाएगी की हत्या का और कोई दूसरा कारण तो नहीं है।

पुलिस के अनुसार मुख्य आरोपित 33 वर्षीय सोनू पुत्र राजेश तलवाड़ी निवासी विंध्यवासिनी कालोनी ने पहले नगमा नाम की लड़की से शादी की थी। तब सोनू ने अपना नाम सोनू उर्फ सलमान रखकर निकाह किया था। शादी के कुछ समय बाद नगमा और सोनू के बीच आपस में विवाद होने लगे व नगमा उससे अलग हो गई । नगमा ने उसके खिलाफ न्यायालय में भरण पोषण का केस भी लगाया था, जिसमें न्यायालय ने 1500 रुपए प्रतिमाह मकान किराए के नगमा को देने के आदेश दिए थे। इसके बाद नगमा ने न्यायालय में अपील कर अधिक रुपए सोनू से दिलवाने व रेलवे से मिलने वाली सुविधाएं दिलाने की मांग की थी। इस अपील को खारिज कर दिया गया था । उधर, बाद में सोनू ने निशा बोरासी से प्रेम संबंध बनाएं और उसे वर्ष 2014 से पति बना कर रखा था। निशा से उसे दो बच्चे सात वर्षीय अमन और चार वर्षीय खुशी थे। वह निशा व बच्चो के साथ कालोनी में रह रहा था।

डेढ़ माह पहले की थी हत्या

सोनू ने करीब डेढ़ माह पहले पत्नी निशा से विवाद होने के दौरान पहले बच्चों और फिर पत्नी निशा की कुल्हाड़ी मारकर हत्या कर दी थी। उसने शव घर में ही रखें व दोस्त बंटी को बुलाया। फिर दोनों ने साजिश रचकर घर के सामने बरामदे में मजदूरों को बुलाकर पानी का टैंक बनाने के नाम पर गड्ढा करवा कर शव गाड दिये थे। उधर, निशा व बच्चे के काफी दिनों से दिखाई नहीं देने पर लोगों को शंका होने लगी। 21 जनवरी की रात पुलिस को सूचना मिली कि सोनू की पत्नी और बच्चे दिखाई नहीं दे रहा है।

शायद उनके साथ कोई अनहोनी घटना हुई होंगी। पुलिस ने सोनू की तलाश कर रविवार सुबह उसे हिरासत में लेकर पूछताछ की। कड़ी पूछताछ के बाद उसने बच्चों और पत्नी की हत्या कर शव दोस्त की मदद से गाड़ना बताया। पुलिस ने बंटी को भी कर लिया। पुलिस ने रविवार शाम बरामदे में खोदाई करवाकर तीनों शव बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए मेडिकल कॉलेज भेजे थे। सोमवार को पुलिस ने तीनों शव पोस्टमार्टम कराकर निशा के पिता को सौंप दिए।

Posted By: Navodit Saktawat

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close