Ratlam Crime News: रतलाम (नईदुनिया प्रतिनिधि)। कनेरी मार्ग पर शहर से करीब पांच किलोमीटर दूर स्थित विंध्यवासिनी कालोनी में रह रहे रेलवेकर्मी (गैंगमेन) द्वारा 30 वर्षीय दूसरी पत्नी, सात वर्षीय बेटे व चार वर्षीय बेटी की कुल्हाड़ी से हत्या कर शव घर के सामने बरामदे में गड्डा खोदकर दफना दिए। दीनदयाल नगर पुलिस ने मुख्य आरोपित व शव दफनाने में मदद करने वाले उसके साथी को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपित का रेलवे की नौकरी में नाम सोनू है, जबकि नगमा से निकाह में आरोपित का नाम सोनू उर्फ सलमान पुत्र राजेश शेख उर्फ रेहमत अली नाम है। पुलिस अब आरोपित के वास्तविक नाम की भी जांच कर रही है। ड्राइविंग लाइसेंस पर सोनू तलवाड़ी नाम दर्ज है।

तीनों के शवों को निकलवाकर पोस्टमार्ट के लिए भेजे

शनिवार शाम आरोपितों को मौके पर ले जाकर पुलिस ने खोदाई कर तीनों शवों निकलवाकर पोस्टमार्टम के लिए मेडिकल कालेज भिजवाए। हत्या का कारण पारिवारिक कलह, दूसरी पत्नी के बच्चों के नाम समग्र आइडी में नहीं जुड़ना बताया जा रहा है।

दोस्त की मदद से बरामदे में दफना दिए शव

पुलिस के अनुसार मुख्य आरोपित 33 वर्षीय सोनू पुत्र राजेश तलवाड़ी निवासी विंध्यवासिनी कालोनी रेलवे में गैंगमैन के पद पर खाचरौद में पदस्थ है। उसकी पहली पत्नी नगमा से भरण पोषणा का मामला कोर्ट में चल रहा है। सोनू वर्ष 2014 से अपनी प्रेमिका (दूसरी पत्नी) निशा के साथ सात वर्षीय पुत्र अमन व चार वर्षीय पुत्री खुशी के साथ रह रहा था। पुलिस को शुक्रवार रात सूचना मिली कि निशा व उसके बच्चे करीब डेढ़ माह से दिखाई नहीं दे रहे हैं। आरोपित सोनू ने घर के बाहर कुछ दिनों पहले गड्डा भी खोदा था। पुलिस ने रविवार सुबह आरोपित सोनू को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उसने हत्या कर शव दोस्त बंटी कैथवास की मदद से बरामदे में दफनाना बताया।

कंकाल के रूप में मिले शव

एसपी अभिषेक तिवारी, एफएसएल अधिकारी डा. अतुल मित्तल, सीएसपी हेमंत चौहान, दीनदयाल नगर थाना प्रभारी दीपक मंडलोई, कार्यपालिक मजिस्ट्रेट व मेडिकल कालेज की फोरेसिंक टीम मौके पर पहुंची। मौके पर करीब चार फीट की खोदाई करने पर शाम करीब साढ़े पांच बजे निशा, उसके पुत्र अमन व पुत्री खुशी के शव कंकाल के रूप में दिखाई दिए।

शवों की डीएनए जांच होगी

एसपी तिवारी ने मीडिया को बताया कि प्रारंभिक पूछताछ में सोनू तलवाड़ी ने बताया कि पहली पत्नी से उसका भरण-पोषण का केस चल रहा है। निशा आए दिन छोटी-छोटी बातों व बच्चों को स्कूल में भर्ती कराने को लेकर विवाद करती थी। डेढ़ माह पहले विवाद में पहले बच्चों को मार व फिर कुल्हाड़ी से निशा की भी हत्या कर दी थी। इसके बाद शव घर में रखे थे। बाद में मजदूरों को बुलाकर बरामदे में यह कहकर गड्डा खुदवाया कि पानी का टैंक बनाना है। दूसरे दिन दोस्त बंटी को जानकारी दी। बंटी घर पहुंचा और फिर दोनों ने शव गड्डे में दफना दिए थे। डीएनए जांच भी कराई जाएगी।

Posted By: Prashant Pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close