Ratlam Crime News: रतलाम (नईदुनिया प्रतिनिधि)। कनेरी मार्ग पर स्थित विंध्यवासिनी कालोनी निवासी सोनू तलवाड़ी उर्फ सलमान शेख ने अपनी हर भूमिका में परिवार को प्रताड़ना दी। सलमान के रूप में पहली पत्नी नगमा से निकाह के बाद ठीक से भरण पोषण नहीं किया। मारपीट व घरेलू हिंसा की शिकायत तो तलाक देने का हवाला कोर्ट में दे दिया।

दूसरी पत्नी के रूप में निशा व दो बच्चों अमन, खुशी को भी प्रताड़ित करता रहा और बाद में हत्या कर अपने दोस्त बंटी कैथवास की मदद से शव घर के आंगन में ही दफना दिए। रविवार को आरोपित को गिरफ्तार करने के बाद सोमवार को न्यायालय में पेश किया गया। न्यायालय ने दोनों आरोपितों को 25 जनवरी तक पुलिस रिमांड पर भेजा है।

तिहरा हत्याकांड दिनभर शहर व विंध्यवासिनी कालोनी में चर्चा का विषय बना रहा। कालोनीवासी मामले को लेकर खुलकर कुछ भी कहने को तैयार नहीं हैं। सोमवार को कड़ी सुरक्षा में न्यायालय लाने व वापस ले जाने के दौरान आरोपित मुंह नीचे लटकाकर चलते रहे।

रिमांड के दौरान पुलिस उनसे घटना के अन्य बिंदुओं पर पूछताछ करने के साथ ही जरूरी साक्ष्य एकत्र करेगी। अब तक आरोपित सोनू ने पारिवारिक कलह के चलते पत्नी व बच्चो की हत्या कर शव दोस्त बंटी की मदद से गाड़ना बताया है। हत्या के पीछे कोई और कारण तो नहीं, इस पर भी पुलिस जांच करेगी। आरोपित की पहली पत्नी नगमा से भी घटना के बारे पूछताछ की जाएगी।

लोगों ने पूछा तो कहा बच्चों को लेकर पत्नी चली गई

कालोनी में जब काफी दिन तक निशा, खुशी व अमन नहीं दिखे तो कुछ लोगों ने सोनू से पूछा था कि भाभी व बच्चे कहां है। इस पर सोनू ने कहा था कि निशा घर से रूपये लेकर बच्चों के साथ कहीं चली गई है। हालांकि पुलिस में कोई सूचना नहीं दी

पिता हिंदू, मां मुस्लिम, नाना के घर भी रहा

सोनू तलवाड़ी के पिता राजेशकुमार तलवाड़ी रेलवे में नौकरी करते थे। उन्होंने सुल्ताना नामक महिला से विवाह किया था। राजेश व सुल्ताना का निधन हो चुका है। सोनू को अनुकंपा नौकरी गैंगमैन के पद पर मिली थी। वर्ष 2009 में नगमा से निकाह में नाम सोनू उर्फ सलमान पुत्र राजेश उर्फ रहमत अली दर्ज करवाया।

वह पीएनटी कालोनी में नाना के घर भी रहा। अब तक पूछताछ में सोनू ने पुलिस को बताया कि नगमा व उसके बीच विवाद बढ़ने पर दोनों अलग हो गए। वर्ष 2012 में नगमा ने कोर्ट में भरण पोषण का केस लगाया। वहीं सोनू 2014 से प्रेमिका निशा बोरासी को पत्नी बनाकर उसके साथ रहने लगा।

निशा से उसे दो बच्चे (सात वर्षीय अमन व चार वर्षीय खुशी) थे। निशा व सोनू के बीच बच्चों को स्कूल में एडमिशन दिलाने व अन्य पारिवारिक कारणों से विवाद होने लगे। नगमा से विधिवत तलाक नहीं होने के कारण निशा के बच्चों की समग्र आइडी भी नहीं बन पा रही थी।

गुस्से में पहले बच्चों को मारा, फिर पत्नी को

करीब डेढ़ माह पहले दोनों के बीच जमकर विवाद हुआ तो गुस्से में आकर सोनू ने पहले बच्चों मारा और फिर कुल्हाड़ी से निशा की भी हत्या कर दी थी। हत्या करने के बाद उसने दोस्त आरोपित 35 वर्षीय बंटी उर्फ जितेंद्र कैथवास पुत्र रमेश कैथवास निवासी सैलाना यार्ड को घर बुलाया था। दोनों ने शवों को बरामदे में ही गाड़ने की साजिश रची। आरोपितों ने मजदूरों को बुलवाकर पानी का टैंक बनाने के लिए गड्डा कराया था। मजदूरों के जाने के बाद दोनों शव गाड़ दिए थे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close