- नगरवासियों ने राहत की सास ली

- जावरा अनुविभाग में 113 पॉजिटिव के स आ चुके हैं

जावरा (नईदुनिया न्यूज)। जावरा अनुविभाग में मंगलवार को मेडिकल कॉलेज रतलाम से एक भी कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट प्राप्त नहीं हुई। इससे लोगों ने राहत की सांस ली है। अब तक जावरा अनुविभाग में 113 पॉजिटिव केस आ चुके हैं, जिनमें से दो की मौत भी हो चुकी है। स्वास्थ्य विभाग के अमले ने मंगलवार को 16 लोगों के सैंपल लिए, जिन्हें रतलाम लैब भेजा। स्वास्थ्य विभाग 44 कोरोना टेस्ट रिपोर्ट आने का इंतजार कर रहा है। प्रशासन के अमले ने मंगलवार को राजेंध परिसर, कांठेड़ परिसर व बकर कसाबपूरा क्षेत्र में बने कंटेनमेंट क्षेत्रों को कंटेनमेंट से मुक्त कि या। सोमवार रात मेडिकल कॉलेज से छह लोगों की रिपोर्ट मिली, जिसमें एक पॉजिटिव और पांच निगेटिव आई, ये जानकारी बीएमओ डॉ. दीपक पालड़िया ने दी। सोमवार रात पिपली बाजार क्षेत्र की एक महिला की रिपोर्ट पॉजिटिव आने से उक्त क्षेत्र में कंटेनमेंट क्षेत्र बनाया गया। महिला की मेडिकल कॉलेज में इलाज दौरान मौत हो चुकी है। महिला के स्वजनों को होम क्वारंटाइन कि या है।

बफर झोन के रहवासियों की जांच कर ली जानकारी

स्वास्थ्य विभाग के अमले ने पिपली बाजार क्षेत्र के बफर झोन के 33 घरों के 156 लोगों की थर्मल स्क्रीनिंग कर जांच की। इसके साथ पुराना हॉस्पिटल रोड बफर झोन के 10 घरों के 61 लोगों की थर्मल स्क्रीनिंग की। यहां एक ब्लडप्रेशर व एक शुगर का मरीज मिला। वहीं बड़ा मालीपुरा बफर झोन के 15 घरों के 88 लोगों की जांच की।ॉ प्रशासन ने मंगलवार को नियमों का उल्लंघन करने वाले 36 लोगों के खिलाफ कार्रवाई कर तीन हजार 600 रुपये अर्थदंड वसूला।

फोटो 04 जेएओ 14 - जावरा बफर झोन के रहवासियों की थर्मल स्क्रीनिंग व जांच करते हुए स्वास्थ्य अमले के सदस्य।

बिना अनुमति के प्रथम मंजिल निर्माण करने पर की कार्रवाई

जावरा (नईदुनिया न्यूज)। एसडीएम राहुल धोटे व सीएसपी प्रदीपसिंह राणावत की मौजूदगी में राजस्व विभाग का अमला पुलिस बल के साथ मंगलवार को सुबह ईदगाह क्षेत्र की जनता कॉलोनी में कार्रवाई करने पहुंचा। अमले को देखकर कॉलानीवासियों में हड़कंप मच गया। दल ने कॉलोनी में बने एक मकान की दूसरी मंजिल के भाग को जेसीबी से तोड़ दिया। उक्त मकान समीउल्ला लाला का है। उसने नगर पालिका से तल मंजिल बनाने की अनुमति ले रखी थी। प्रथम मंजिल की अनुमति नहीं ली थी। इस पर प्रशासन ने कार्रवाई की। अन्य कॉलोनीवासियों ने मंगलवार को नोटिस के जवाब तहसील कार्यालय में प्रस्तुत कि ए, जिनकी जांच की जा रही है।

तहसीलदार डॉ. नित्यानंद पांडेय ने बताया कि ईदगाह क्षेत्र की जनता कॉलोनी के 10 लोगों को तहसील कार्यालय से 29 जुलाई को सूचना पत्र जारी हुए थे। संबंधितों को जवाब नोटिसी मिलने के तीन दिन बाद कार्यालय में प्रस्तुत करना था। संबंधितों से जवाब नहीं आने पर प्रशासन ने मंगलवार को कार्रवाई की। वहीं, जिन लोगों ने मंगलवार को तहसील कार्यालय में सूचना पत्र का जवाब पेश कि या है, उनकी जांच चल रही है। नोटिस का जवाब संतोषप्रद नहीं मिलने पर संबंधितों के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।

कार्रवाई के दौरान एसडीएम धोटे, सीएसपी राणावत, तहसीलदार डॉ. पांडेय, राजस्व विभाग के अमले के साथ पर्याप्त पुलिस बल तैनात रहा।

फोटो 04 जेएओ 11 - जनता कॉलोनी में बने मकान पर कार्रवाई की गई।

अरनियापीथा मंडी का कारोबार आज रहेगा बंद

जावरा (नईदुनिया न्यूज)। कृषि उपज मंडी व्यापारी संगठन अध्यक्ष पवन पाटनी, सचिव धीरज सारड़ा ने मंडी भारसाधक अधिकारी एसडीएम राहुल धोटे को एक आवेदन सौंपा। इसमें विभिन्न मांगों को लेकर बुधवार को मंडी व्यापारियों द्वारा मंडी निलाम में भाग नहीं लेकर विरोध दर्ज कराने की बात कही। व्यापारी संगठन के पदाधिकारियों ने बताया कि अरनियापीथा कृषि उपज मंडी का कारोबार बुधवार को बंद रहेगा। इधर, लहसुन मंडी का कारोबार बुधवार को चालू रहेगा।

आवेदन में बताया गया कि जो भूखंड व्यापारी द्वारा लिए गए, उनका ले-आउट मांगने पर आज तक नहीं दिया गया। लिजरेंट समाप्त कर जल्द ले-आउट देकर उसके बाद लिजरेंट ली जाए। अरनियापीथा मंडी के कि राना झोन में जो नाला बनाया गया, उसमें पानी का ढलान नहीं होने से नाली का पानी रिटर्न आ रहा है। इससे व्यापारियों के गोदामों में माल का नुकसान हो रहा है। प्रांगण में लाइट की व्यवस्था ठीक नहीं होने से व्यापारियों को भुगतान संबंधी व अपने कार्य को पूरा करने में परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। प्रांगण में सिंगल शौचालय की व्यवस्था नहीं होने से लोग जगह-जगह गंदगी कर रहे, जहां पानी सप्लाय हो रहा है, वहां भी लोग गंदगी फै ला रहे हैं। वर्तमान में जो भी निर्णय लिए गए वे मंडी प्रांगण में कार्यरत व्यापारी, हम्माल, तुलावटी व कि सानों की सुविधाओं को देखते हुए नहीं कि ए गए हैं। आगे जो भी कार्य कि ए जाए, वे व्यापारी संगठन को विश्वास में लेकर कि ए जाए, जिससे सभी वर्गों को मंडी प्रांगण में कार्य करने में कोई परेशान न हो। बाउंड्रीवाल भी तकनीकी अधिकारी द्वारा लोगों से मिलीभगत अनुसार कई जगह खाली छोड़ी गई है। इस कारण मंडी प्रांगण में आए दिन गिट्टी के डंपर, जानवर एवं असामाजिक तत्व का आना-जाना लगा रहता है। कई व्यापारियों का माल बाहर पड़ रहता है, उनमें आए दिन चोरी होती रहती है, जिसकी शिकायत मंडी कार्यालय में पूर्व में की जा चुकी है।

लहसुन मंडी में 20 करोड़ रुपये की लागत से निर्माण कार्य हुए, लेकि न पानी की निकासी के कोई इंतजाम नहीं

खाचरौद नाका स्थित लहसुन मंडी प्रांगण में जहां पर लहसुन, प्याज व सब्जी मंडी में निलामी होती है। यहां प्रतिदिन करीब 300 व्यापारी, 500 हम्माल व दो हजार कि सान आते-जाते है। इसी मंडी प्रांगण में 20 करोड़ की लागत से निर्माण कार्य कि ए गए, लेकि न व्यापारियों के भूखंड के आगे व मंडी प्रांगण में नाली नहीं बनाई।

व्यापारियों की वर्षों पुरानी प्रतिभूति के रूप में एफडी जिला सहकारी बैंक मंडी शाखा में जमा है, वह वापस की जाए। 36 भूखंड डॉ. कै लाशनाथ काटजु कृषि उपज मंडी समिति में नियमितिकरण कि ए जाए।

लहसुन मंडी में पानी की निकासी के नहीं है इंतजाम

डॉ. काटजू मंडी व्यापारी संघ अध्यक्ष अजीत चत्तर ने बताया कि जावरा मंडी जब अरनियापीथा शिफ्ट हुई, तब जून 2015 में व्यापारियों ने भूखंड लेकर उसकी पूरी राशि जमा करा दी। जो कि करीब तीन करोड़ रुपये थी। लेकि न आज पांच वर्ष बाद भी मंडी प्रशासन एवं तकनीकी विभाग द्वारा भूखंडों का ले-आउट नहीं दिया गया। जिसका प्रशासन द्वारा लिजरेंट मांगना अनुचित है। हम लिजरेंट देने का विरोध करते हैं।

.................................

बारिश होने से लोगों को मिली उमस से राहत

जावरा। श्रावण मास की समाप्ति के बाद भादवा माह के पहले दिन मंगलवार को नगर में भगवान इंधदेव की कृपा बरसी। तेज बारिश होने से लोगों को उमस से राहत मिली। मंगलवार शाम 7.40 बजे नगर में तेज बारिश का दौर प्रारंभ हुआ, जो करीब 20 मिनट चला। अच्छी बारिश होने से खेतों में खड़ी फसलों को जीवनदान मिला है। वहीं कि सानों की चिंता भी कम हो गई। तेज बारिश के चलते सड़क तरबतर हो गई।

फोटो 04 जेएओ 13 - तेज बारिश के चलते तरबतर हुई सड़कें ।

नवीन पात्रता पर्ची के दावे-आपत्ति की अंतिम तारीख सात अगस्त

जावरा। खाद्य नागिरक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग द्वारा जारी निर्देशानुसार प्रदेश में कोविड-19 संक्रमण के कारण गरीब परिवारों की आजीविका प्रभावित हुई है। ऐसे गरीब परिवारों की खाद्य सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम 2013 के तहत सम्मिलित 25 श्रेणियों के परिवारों को स्थानीय निकाय द्वारा सत्यापित करीब 25 लाख हितग्राहियों एवं वर्तमान में शामिल पात्र परिवारों में छुटे हुए करीब पांच लाख सदस्यों के नाम जोड़कर नवीन पात्रता पर्ची जारी करने के निर्देश दिए है। इसके दावे-आपत्ति की अंतिम तिथि सात अगस्त तय की गई है। अंतिम तिथि तक जावरा, बड़ावदा, पिपलौदा के दावा आवेदन एसडीएम कार्यालय में कार्यालयीन समय में प्रस्तुत कि ए जा सकते है। अंतिम तिथि सात अगस्त के बाद प्राप्त दावे-आपत्तियों पर विचार नहीं कि या जाएगा। उक्त दावे-आपत्ति की सूची एसडीएम कार्यालय, नगर पालिका कार्यालय के साथ बड़ावदा, पिपलौदा, सभी ग्राम पंचायतों, जनपद पंचायत जावरा व पिपलौदा एवं उचित मूल्य की दुकानों के सूचना पठ कर देखी जा सकती है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020