रतलाम, Ratlam News। भुने चने से किसी की मौत हो सकती है, इस पर किसी को विश्वास नहीं होता, लेकिन चने या कोई वस्तु श्वास नली में फंस जाए तो किसी की भी जान जा सकती है। शिवगढ़ थाना क्षेत्र के ग्राम पाटडी में मामा की किराना दुकान पर भुने चने खाते समय दो चने तीन वर्षीय बालक की श्वास की नली में फंस गए। इससे बालक का दम घुटने लगा तथा अस्पातल ले जाते समय रास्ते में उसकी मौत हो गई। इस घटना ने सभी को झकझोर कर दिया। किसी को इस बात का अहसास नहीं हो रहा है कि महज दो चने गले में फंसने से किसी के जिगर का टुकड़ा उनसे दूर हो जाएगा।

पुलिस के अनुसार गौतम मचार निवासी ग्राम छावनी झोड़िया पत्नी व बच्चों के साथ ग्राम पाटड़ी स्थित अपने ससुराल गया था। दो-तीन दिन से वह स्वजन के साथ ससुराल में ही रुका हुआ था। वह अपने तीन वर्षीय पुत्र महेश के साथ महेश के मामा बादर खराड़ी की किराना दुकान पर उससे बातचीत करने गया था। दुकान के पास बैठकर वह चने खा रहा था, साथ में उसका पुत्र महेश भी चने खाने लगा। अचानक चने खाते-खाते महेश अचेत होकर नीचे गिरा। यह देख पिता व वहां उपस्थित लोग कुछ समझ नहीं पाए और घबरा गए। महेश को लेकर वे तत्काल जिला अस्पताल पहुंचे, तब तक महेश की मौत हो चुकी थी। डाक्टर ने परीक्षण कर उसे मृत घोषित किया। इसके बाद उसके शव का पोस्टमार्टम कराया गया। महेश की श्वास नली में दो चने फंसे पाए गए।

माना जा रहा है कि श्वास नली में चने फंसने से बालक का दम घुट गया। पोस्टमार्टम के बाद शव स्वजन को सौंप दिया गया। एएसआइअ एसएस परमार के अनुसार प्रारंभिक तौर पर बालक की मौत श्वास नली में चने फंसने से होने की बात सामने आई है, मामले की जांच की जा रही है।

Posted By: Prashant Pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local