रतलाम। नगर में प्रथम बार वैदिक जागृति ज्ञान विज्ञान पीठ के माध्यम से पांच लाख रुद्राक्ष का 11 फीट का महाशिवलिंग निर्माण किया जाएगा। नौ अगस्त को सुबह सात से शाम सात बजे तक श्रद्धालुओं के दर्शन हेतु शिवलिंग बनाया जा रहा है। रुद्राक्ष शिवलिंग के साथ ही द्वादश ज्योतिर्लिंग का आरंभ में अभिषेक किया जाएगा। हवन का आयोजन भी होगा। दर्शनार्थ आने वाले श्रद्धालुओं को निशुल्क रुद्राक्ष प्रसादी वितरित की जाएगी।

वैदिक जागृति ज्ञान विज्ञान पीठ द्वारा पूर्व में तीन लाख निशुल्क रुद्राक्ष प्रसादी का वितरण किया जा चुका है। आयोजन की रूपरेखा तैयार करने के लिए अलकापुरी अटल सभागृह में बैठक आयोजित की गई। बैठक में सर्वसम्मति से शिवलिंग बनाने पर चर्चा की गई। रुद्राक्ष महाशिवलिंग निर्माण अम्बे माताजी मंदिर देवरा देवनारायण नगर कांप्लेक्स के पास में किया जाएगा। शाम सात बजे सामूहिक महाआरती की जाएगी। ज्योतिषाचार्य पं. संजय शिवशंकर दवे, पं. चेतन शर्मा, पं. राममिलन शास्त्री, पं. महेशानंद शर्मा, पं. राजेश पांडेय, पं. ललित शर्मा, मुकेश मीणा, लोकेंद्रसिंह उदावत, सुमित कोचले, पं. मुकेश शर्मा, पं. संजय मिश्रा, पं. जीवेश जोशी, पं. सुनील जोशी, विशाल वर्मा सहित गणमान्य सदस्य उपस्थित रहे।

त्रिनेत्र महादेव की शाही सवारी निकलेगी

श्री त्रिनेत्र महाकाल मंदिर सार्वजनिक ट्रस्ट दीनदयालनगर द्वारा सावन उत्सव धार्मिक उल्लास से मनाया जा रहा है। ट्रस्ट अध्यक्ष मनोज यादव ने बताया कि आठ अगस्त को दोपहर दो बजे दीनदयालनगर स्थित मंदिर से त्रिनेत्र महादेव की शाही सवारी निकाली जाएगी। सवारी बाजना बस स्टैंड, लक्कड़पीठा, चांदनीचौक, चौमुखीपुल, घास बाजार, माणकचौक, रानीजी का मंदिर, हरदेवलाल की पीपली, चांदनीचौक होकर पुनः मंदिर पहुंचेगी। शाही सवारी में बैंडबाजे के साथ घोड़े, बाबा की पालकी, झांकी शामिल रहेगी।

कलश यात्रा निकाल किया अभिषेक

आनंद कालोनी स्थित महादेव मंदिर पर पर सावन मास में महिला मंडल ने कलश यात्रा निकाली। महिला मंडल ने अमृत सागर स्थित गढ़ कैलाश महादेव मंदिर पहुंचकर अभिषेक किया।

सावन के झूलों का लिया आनंद

रामेश्वर महादेव महिला मंडल कस्तूरबानगर द्वारा सावन मास उत्सव विभिन्ना धार्मिक आयोजनों के साथ धूमधाम से मनाया जा रहा है। महिला मंडल द्वारा सावन के झूलों और हरियाली तीज का उत्सव पंचमुखी गणपति मंदिर पर सामूहिक रूप से धूमधाम से मनाया गया। महिला मंडल की मधु द्विवेदी ने बताया कि पंचमुखी गणपति मंदिर पर प्रथम पूज्य गजानन गणेश जी की पूजा-अर्चना में महिला मंडल की रामा तकिया, स्नेहलता मकवाना, प्रमिला रावल, लक्ष्‌मी पंवार, निर्मला वैष्णव सहित अन्य महिला सदस्याएं ग्रीन कलर ड्रेस थीम पर हरे रंग की साड़ी में शामिल हुई। सभी सदस्याओं ने बगीचे की हरियाली के बीच उत्सव मनाते हुए सामूहिक रूप से बगीचे में सावन के झूलों का आनंद भी लिया।

चौमुखा महादेव का अभिषेक

बागड़ों का वास स्थित चौमुखा महादेव अगरजी का मंदिर पर पंकज मावावाला द्वारा अभिषेक करवाया गया। पंडित भुवन पंड्या पंचेड़ वाले द्वारा अभिषेक कराया गया। रमेश पंड्या, रामप्रसाद व्यास, सूरजमल टाक, विनायक परमार, रमेश पाठक, दिनेश राठौर आदि उपस्थित रहे।

शाही सवारी का निमंत्रण दिया

श्रावण मास के अंतिम सोमवार आठ अगस्त को परंपरानुसार श्री गढ़कैलाश महादेव की शाही सवारी कलेक्टर नरेंद्र सूर्यवंशी व एसपी अभिषेक तिवारी द्वारा पूजा-अर्चना करने के पश्चात निकाली जाएगी। पूजा-अर्चना कर शाही सवारी को नगर भ्रमण के लिए रवाना करने के लिए श्री गढ़ कैलाश सेवा समिति ट्रस्ट के प्रतिनिधिमंडल ने कलेक्टर नरेंद्र कुमार सूर्यवंशी से मुलाकात कर शाही सवारी का निमंत्रण पत्र दिया। समिति संरक्षक सतीश राठौड़ जानी, अशोक जैन चौटाला, बलवीरसिंह राठौर, संयोजक केलाश झालानी, समिति अध्यक्ष सतीश भारतीय, सूरजमल टांक, खुशाल भारतीय, गौरव जैन आदि उपस्थित थे।

चिंतन बाकीवाला का किया सम्मान

आफिसर कालोनी स्थित पंचमुखी हनुमान मंदिर पर महान गायक किशोर दा के जन्मोत्सव पर इंदौर से आए सोनी टीवी के फार किशोर के विजेता गायक चिंतन बाकीवाला ने सपरिवार मंदिर परिसर स्थित शिव मंदिर पर पूजा, आराधना, महाआरती कर दर्शन लाभ लिया। इस अवसर पर मंदिर ट्रस्टी द्वारा शाल, श्रीफल व बिल्वपत्र का पौधा देकर सम्मानित किया गया। प्रकाशचंद्र व्यास, शंकरलाल मालवीय, गिरीशचंद शर्मा, मनोहर पचौरी, महेश सोनी, राजेंद्र चतुर्वेदी, प्रदीप ओझा, आरएस झाला, महेश ओझा, कमलजीत सिंह, लाखन राव, दुर्गा प्रसाद मिश्रा, सुनील राठौर सहित बड़ी संख्या में श्रद्धालुजन व पेंशनर साथी उपस्थित थे।

108 शिवलिंग का महारुद्राभिषेक कल

श्री गायत्री शक्तिपीठ सागोद-धोलावड़ रोड पर श्रावण मास में सात अगस्त को सुबह नौ बजे से गायत्री मां का सहस्त्र धारा अभिषेक व भगवान शिव का 108 शिवलिंग का महारुद्राभिषेक 108 यजमानों द्वारा किया जाएगा। गायत्री परिवार के अशोक पंचोली, दिलीप वर्मा, डा. एचके सोनी, देवेंद्र चौहान, बिहारीलाल, जगदीश सोनी, राजीव शर्मा, जितेंद्र जायसवाल, प्रमोद, नरेंद्र, अशोक धाकड़, मोहनलाल, श्याम, समरथ, जगदीश, पीयूष शर्मा ने धर्मालुओं से उपस्थित रहने की अपील की है।

केसरिया दुपट्टा ओढ़ाकर किया स्वागत

श्रावण मास के उपलक्ष्‌य में तारा संस्थान उदयपुर द्वारा श्री टेकेश्वर महादेव मंदिर लक्कड़पीठा-ईदगाह रोड पर सभी भक्तों का केसरिया दुपट्टा ओढ़ाकर सम्मान किया गया। संस्थान के दिलीप सहित श्री टेकेश्वर महादेव मंदिर के मांगीलाल बहादर, नीलेश कुमावत, बंटी सांकला, विक्रम भगौरा, मोहित बंजारा, पवन धाकड़, आयुष सोलंकी, लक्की धाकड़, लव्य, अंशुल, तरुण, शिव, प्रखर, जय, संतोष, सांवरिया, अथर्व आदि मौजूद रहे।

प्रतिदिन कर रहे अभिषेक

श्रावण मास में श्री जागेश्वर महादेव मंदिर दीनदयालनगर में प्रतिदिन अभिषेक, पूजा-अर्चना पं. शैलेंद्र ओझा के सान्निाध्य में की जा रही है। पूरे श्रावण मास में 51 महारुद्र अभिषेक किए जाएंगे। पुजारी राहुुल परिहार, निरंजन, मुकेश, रामबाबू शर्मा, महेंद्र, अनोखीलाल, सचिन आदि उपस्थित थे।

टेकेश्वर महादेव की शाही सवारी

श्री टेकेश्वर महादेव मंदिर पर प्रतिवर्ष अनुसार सावन माह के अंतिम सोमवार को सुबह अभिषेक, दोपहर में शाही सवारी निकाली जाएगी। आठ अगस्त को दोपहर तीन बजे मंदिर परिसर से शाही सवारी प्रारंभ होगी, जो प्रमुख मार्गों से होती हुई पुनः मंदिर पहुंचेगी। शाम पांच बजे भगवान भोलेनाथ का श्रृंगार किया जाएगा। उसके पश्चात महाआरती कर प्रसाद का वितरण किया जाएगा। श्री टेकेश्वर महादेव मंदिर ट्रस्ट व नवयुवक मंडल के मांगीलाल बहादर, प्रवीण वाघेला, विक्की राठौड़, मोहित बंजारा, गौरव बंजारा, आयुष चौहान, सुनील, राजू चौहान, कान्हा चौहान, सुनील कुमावत, मनोहरलाल गांधी, महिला मंडल की मांगीबाई गांधी, ममता बहादर, आशा गांधी ने धर्मालुओं से उपस्थित रहने की अपील की है।

सामूहिक शिवमंत्र का जाप

मध्यप्रदेश नागर ब्राह्मण परिषद द्वारा श्रावण मास के प्रति सोमवार श्री हाटकेश्वर देवालय पर अभिषेक, पूजा-अर्चना, दिव्य श्रृंगार, महाआरती, सामूहिक शिवमंत्र का जाप के कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। इसी क्रम में आठ अगस्त श्रावण मास के अंतिम सोमवार पर प्रातः नौ बजे कालेज रोड मठ स्थित श्री हाटकेश्वर देवालय पर कार्यक्रम होंगे। मुख्य यजमान सार्थक व्यास पुत्र विकास व्यास होंगे। इसी प्रकार श्री हाटकेश्वर देवालय नागर ब्राह्मण धर्मशाला नागर वास पर शाम चार से छह बजे के मध्य उक्त कार्यक्रम होंगे। मुख्य यजमान दिव्यांश, ईशिका भट्ट पुत्र/पुत्री गिरीश भट्ट होंगे। मुख्य आचार्य रमेशचंद भट्ट होंगे। समाज अध्यक्ष सुशील नागर, सचिव सत्येंद्र मेहता, उपाध्यक्ष ओम त्रिवेदी, महेश रावल, ट्रस्ट अध्यक्ष नवनीत मेहता, महिला शाखा अध्यक्ष अनुराधा दवे, विष्णु दत्त नागर आदि ने धर्मालुओं से उपस्थित रहने की अपील की है।

क्षत्राणी ग्रुप ने किए भजन-कीर्तन

राजपूत धर्मशाला हाथीखाना स्थित भगवान जागनाथ महादेव मंदिर पर क्षत्राणी ग्रुप द्वारा भजन-कीर्तन का आयोजन किया गया। समाज की नवनिर्वाचित पार्षद मनीषा विजयसिंह चौहान, धीरज कुंवर किशोरसिंह राठौर का महिला मंडल द्वारा स्वागत का सम्मान किया गया।

उज्जैन पहुंचकर करेंगे महाकाल का अभिषेक

पिपलौदा। जयश्री महाकाल मंडल बोरखेड़ा द्वारा कोरोना काल के दो साल बाद श्रावण मास में शुक्रवार को निकाली गई पहली कावड़ यात्रा सोमवार को महाकाल मंदिर उज्जैन पहुंचेगी। नवयुवक मित्र मंडल के बैनर तले सातवीं कावड़ यात्रा बोरखेड़ा से निकली। इसमें 101 कावड़ यात्री जल लेकर बाबा महाकाल की नगरी के लिए रवाना हुए। विश्व शांति की कामना लेकर निकले भक्तों का जगह-जगह किया गया। सोमवार को कावड़ यात्री उज्जैन पहुचेंगे और बाबा महाकाल को जल अर्पण करेंगे।

05आरएटी-23 : बोरखेड़ा से उज्जैन के निकली कावड़ यात्रा में शामिल हुए श्रद्धालु। नईदुनिया

सावन मास में हर दिन रुद्राभिषेक

दलोट। खेड़ापति भोलेनाथ मंदिर पर प्रतिदिन अलग-अलग यजमान द्वारा दूध, दही, घी, शकर, शहद आदि से स्नान करवाकर प्रतिदिन रुद्राभिषेक किया जा रहा है। दिनेश पाटीदार ने बताया कि पंडित लेखराज शर्मा द्वारा प्रतिदिन अभिषेक करवाया जा रहा है। शिवपुराण की मान्यता के अनुसार भगवान को दूध से अभिषेक करने पर संतान की प्राप्ति होती है। गन्नो के रस से अभिषेक करने पर लक्ष्‌मी की प्राप्ति होती है। दही से अभिषेक करने पर आरोग्यता प्राप्त होती है। कुशायुक्त जल से अभिषेक करने पर रोग दूर होता है। इत्र मिले हुए जल से अभिषेक करने पर बीमारी नष्ट होती हैं। तीर्थों के जल से अभिषेक करने पर मोक्ष की प्राप्ति होती है। पूर्ण सावन मास में भक्तों द्वारा कभी गन्नो के रस से, कभी दूध से, इत्र मिले जल से अभिषेक किया जा रहा है। रुद्राभिषेक के पश्चात पंडित शर्मा द्वारा बाबा भोलेनाथ का श्रृंगार किया जाता है।

कावड़ यात्रा संघ का स्वागत-सम्मान

धामनोद। बोल बम कावड़ यात्रा संघ अमझेरा (धार) द्वारा केदारेश्वर से अमझेरा तक पैदल यात्रा निकाली गई। कावड़ यात्रा का यह सातवां वर्ष है। यात्रा का उद्देश्य पर्यावरण संरक्षण पेड़ बचाओ-जंगल बचाओ, बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ, गौ संरक्षण-गौ हत्या बंद हो हैं। यात्रा का पहला पड़ाव धामनोद में गणेश भवन सदर बाजार में हुआ। सोनी परिवार व नगर के प्रबुद्धजनों द्वारा कावड़ यात्रियों का स्वागत-सम्मान किया गया। यात्रियों के भोजन व रात्रि विश्राम की व्यवस्था की गई। कावड़ यात्रा संघ द्वारा बिल्व पत्र के पौधे नगर में समाजजनों को दिए गए। सोनी परिवार ने सभी कावड़ यात्रियों को मंगलमय यात्रा की बधाई दी।

04आरएटी-08 : धामनोद में बिल्व पत्र के पौधे वितरित करते हुए कावड़ यात्री। नईदुनिया

शाही सवारी के लिए भेंट की गुल्लक की राशि

सुखेड़ा। सावन माह में आमजन भोले की भक्ति में रमा गए हैं। जगह-जगह भोले की भक्ति, पूजा, अभिषेक कर लोग भोले भंडारी का आशीर्वाद ले रहे हैं। सावन के अंतिम सोमवार आठ अगस्त को ग्राम के विभिन्ना मार्ग से भोले की शाही सवारी निकाली जाएगी। इसके लिए व्यापक तैयारी की जा रही है। शाही सवारी को सफल बनाने के लिए गांववासी तन-मन-धन से महाकाल मंडल का सहयोग कर रहे हैं। धर्म संस्कृति से प्रभावित होकर शास्त्री गली निवासी अतुल सोलंकी के सात वर्षीय पुत्र दिव्यांश सोलंकी ने शाही सवारी को सफल बनाने के लिए अपनी गुल्लक की जमा राशि 747 रुपये महाकाल मंडल के बंटी शर्मा को प्रदान की। ज्ञात रहे उक्त बालक की माता का गत वर्ष कोरोना काल मे आकस्मिक निधन हो गया था। तीन बहनों के इकलौते भाई दिव्यांश के इस जज्बे की जिसने भी सुना तारीफ कर रहा है।

कावड़ कलश यात्रा समिति के कार्यालय का शुभारंभ

आलोट। 22 अगस्त को नगर मे निकलने वाली कावड़ कलश यात्रा के आयोजन को लेकर स्थानीय स्वर्णकार समाज की धर्मशाला में समिति के कार्यालय का शुभारंभ क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों के हाथों हुआ। समिति के व्यवस्थापक विनोद माली एडवोकेट ने बताया कि समिति की बैठक भी हुई। इसे विधायक मनोज चावला, भाजपा नेता दिनेश कोठारी, केडी बैरागी, शंकर सवारी समिति अध्यक्ष ओपेंद्रसिंह यादव, जनपद उपाध्यक्ष प्रतिनिधि नरेंद्रसिंह परिहार, पार्षद अमित चौधरी आदि ने संबोधित किया। बैठक में कार्यकर्ताओं को अलग-अलग जवाबदारी दी गई। कार्यालय शुभारंभ के पूर्व राजेंद्र चौक स्थित हनुमान मंदिर पर महाआरती की गई। जनपद अध्यक्ष प्रतिनिधि कालूसिंह परिहार, समिति के प्रभारी राघवेंद्रसिंह सोलंकी, कोषाध्यक्ष राजू गुप्ता, प्रदीप पोरवाल, नगर प्रभारी शंकर परमार, राजू शर्मा, संजय पांचाल, अमित अग्रवाल, गोपाल परिहार, जितेंद्रसिंह सोलंकी, धर्मेंद्रसिंह सोलंकी आदि उपस्थित थे। आभार कावड़ कलश यात्रा समिति अध्यक्ष विजेंद्रसिंह सोलंकी ने माना। जय भोले भक्त मंडल के तत्वावधान में आठ अगस्त को मनुनिया महादेव मंदिर से अनादिकल्पेश्वर महादेव मंदिर तक करीब 15 किलोमीटर की पैदल यात्रा निकलेगी। भगवान की महाआरती के साथ यात्रा का समापन होगा।

केदारेश्वर के जल से करेंगे अभिषेक

सैलाना। स्वराज अमृत महोत्सव के तहत बोल बम कावड़ यात्रा संघ अमझेरा जिला धार द्वारा इस वर्ष सैलाना के समीप प्राकृतिक वादियों में स्थित प्राचीन व सिद्ध तीर्थ कल्याण केदारेश्वर से पवित्र जल भरकर पांच पढ़ावों की 140 किलोमीटर की लंबी दूरी तय कर अमझेरा के शिवालयों पर धर्मवीरों द्वारा भगवान भोलेनाथ का अभिषेक किया जाएगा। यात्रा का शुभारंभ बुधवार को सैलाना के कल्याण केदारेश्वर से हुआ। यात्रा संयोजक विजय कुमार शर्मा ने बताया कि संस्था द्वारा कावड़ यात्रा का यह सातवां वर्ष है। हर वर्ष अलग-अलग स्थान के शिवालयों से जल ले जाकर अमझेरा व आसपास के शिवालयों पर अभिषेक किया जाता है। सैलाना के कल्याण केदारेश्वर से पहली बार यह यात्रा निकाली जा रही है। शर्मा ने बताया कि कावड़ यात्रा के दौरान रास्ते में पौधारोपण भी किया जाता है। इस बार पंडित प्रदीप मिश्रा की प्रेरणा से राह में 151 बिल्वपत्र के पौधों का पौधारोपण कर पर्यावरण संरक्षण के साथ गौ संरक्षण, बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान, धर्म जागरण व राष्ट्रभक्ति जगाने का उद्देश्य भी पूर्ण किया जा रहा है। यात्रा तीन अगस्त से प्रारंभ होकर रतलाम जिले के धामनोद, मूंदड़ी, केंद्रीय फाटा, कड़ोद कलां व बांदड़ी के पड़ाव को पार करते हुए आठ अगस्त सावन के चौथे व अंतिम सोमवार को अमझेरा पहुंचकर रत्नेश्वर महादेव, सिद्धनाथ महादेव, श्री राजराजेश्वर व बाबा बैजनाथ महादेव सहित कई महादेव का अभिषेक करेगी।

नामली से निकली पदयात्रा

नामली। श्रावण मास में हर तरफ धर्म की गंगा बह रही है। नगर के युवा अनिल माली, अर्जुन राठौड़, आशीष सोनावा, निलेश भाटी, शंकरलाल राठौड़ ने शनिदेव मंदिर दयानंद पुरी आश्रम नामली से उज्जैन महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग तक पैदल यात्रा की। तीन दिन में उज्जैन महाकाल पहुंचकर दर्शन किए और बाबा महाकाल को ध्वजा चढ़ाई। एक और पैदल यात्रा श्रीराम-जानकी मंदिर बाबाजी के कुएं से राजस्थान के चमत्कारी होरी हनुमानजी के दरबार पहुंची। पैदल यात्रियों ने ध्वजा चढ़ाई। यात्रा में नगर के जितेंद्र जाट, विजय आतेड़िया, राहुल लक्षकार आदि शामिल थे। सभी ने अच्छी वर्षा और विश्व कल्याण की कामना की।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close