रतलाम (नईदुनिया प्रतिनिधि)। जिले के ग्रामीण विकास विभाग की योजनाओं, कार्यक्रमों की समीक्षा शनिवार को कलेक्टर कुमार पुरुषोत्तम ने बैठक लेकर की। इस दौरान कलेक्टर ने निर्देश दिए कि स्वयं सहायता समूह की महिला सदस्यों द्वारा उत्कृष्ट उत्पाद बनाए जा रहे हैं। इनको मार्केटिंग की जरूरत है। इसके लिए जनपद मुख्यालयों पर दुकान उपलब्ध कराकर बाजार सुविधा दी जाना चाहिए। इसके लिए कार्य योजना तैयार करें। बैठक में जिला पंचायत सीईओ जमुना भिड़े, अतिरिक्त सीईओ जिला पंचायत विनीता लोढा, हिमांशु शुक्ला आदि उपस्थित रहे।

कलेक्टर ने निर्देश दिए कि कलेक्ट्रेट परिसर में भी समूह उत्पादों के विक्रय प्रदर्शन के लिए एक आउटलेट निर्मित किया जाए। ग्रामीण विकास योजनाओं की कमजोर प्रगति एवं लक्ष्‌य अर्जित नहीं कर पाने पर कलेक्टर ने जनपद पंचायत रतलाम के सीईओ रामपालसिंह करजरे तथा बाजना जनपद पंचायत के सीईओ विजय गुप्ता की 2-2 वेतन वृद्धि रोकने के लिए शोकाज नोटिस जारी करने के निर्देश दिए। ग्रामीण यांत्रिकी सेवा विभाग के कार्यपालन यंत्री धनोतिया की ढीली कार्यप्रणाली पर भी सख्त नाराजगी व्यक्त की और काम की गुणवत्ता सुधारने के भी निर्देश दिए।

समीक्षा के दौरान पाया कि उपयंत्रियों द्वारा ठीक ढंग से कार्य नहीं किया जा रहा है। कलेक्टर ने सख्त नाराजगी के साथ चेतावनी दी कि अगली बैठक के पूर्व यदि उपयंत्रियों द्वारा अपनी कार्यप्रणाली में सुधार नहीं किया गया तो सेवाकाल अवधि आगे नहीं बढ़ाई जाएगी। कलेक्टर ने यह भी निर्देश दिए कि चूंकि उपयंत्री अपने मुख्यालय पर नहीं रहते हैं, उनकी मुख्यालय पर उपस्थिति सुनिश्चित की जाए। इसके लिए एक मोबाइल ऐप की सुविधा लेकर प्रतिदिन मानीटरिंग की जाएगी। इससे पता चल जाएगा कि वह मुख्यालय पर है अथवा नहीं।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local