रतलाम। जिले में रुक-रुककर रिमझिम-तेज खंड स्तरीय वर्षा हो रही है। इससे कहीं सूखा-कहीं गीला की स्थिति बन रही है। जिला अब गत वर्ष के मुकाबले और सामान्य वर्षा में काफी पिछड़ गया है। जिले में अब तक 426.6 मिमी पानी बरसा है। यह गत वर्ष के मुकाबले 115.8 मिमी कम है। जिले की अब तक की सामान्य औसत वर्षा 455 मिमी और कुल सामान्य औसत वर्षा 918.3 मिमी है। अल्पवर्षा के चलते ताल-आलोट तहसील क्षेत्र के कई गांवों में खरीफ फसलों पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ रहा है।

शहर सहित आसपास के क्षेत्रों में शनिवार को दिनभर बादलों की उमड़-घुमड़ के बीच रिमझिम-तेज वर्षा हुई। तेज वर्षा से सड़कें तरबतर हो गईं और लोगों को गर्मी-उमस से कुछ राहत मिली। सुबह आठ बजे समाप्त हुए बीते चौबीस घंटों के दौरान जिले में 3.3 मिमी पानी बरसा। आलोट में तीन मिमी, जावरा में एक मिमी, पिपलौदा में पांच मिमी, बाजना में दो मिमी, रतलाम में 10 मिमी, सैलाना में पांच मिमी पानी बरसा। ताल, रावटी तहसील सूखी रही। शुक्रवार के मुकाबले शनिवार को अधिकतम तापमान स्थिर रहा, वहीं न्यूनतम तापमान में 0.6 डिग्री सेल्सियस की गिरावट दर्ज की गई। सुबह की आर्द्रता 90 प्रतिशत व शाम की 84 प्रतिशत रही, जो शुक्रवार को क्रमशः 90 व 91 प्रतिशत थी।

जिले की तहसीलों में वर्षा की स्थिति

तहसील अब तक गत वर्ष की वर्षा मिमी में

आलोट 357.0-509.0

जावरा 543.0-729.0

ताल 278.0-741.0

पिपलौदा 469.0-455.0

बाजना 401.0-364.0

रतलाम 390.0-465.0

रावटी 434.1-458.0

सैलाना 540.0-618.0

औसत 426.6-542.4

भरपूर वर्षा के लिए यज्ञ में दी आहुतियां

आलोट। रुठे इंद्रदेव को प्रसन्ना करने के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में यज्ञ-हवन किए जा रहे हैं। उधर, आलोट नगर शुक्रवार दोपहर बाद 20 मिनट तक रिमझिम वर्षा हुई। क्षेत्र में भरपूर वर्षा के लिए समीपस्थ ग्राम धापना में ग्रामवासियों के सहयोग से शुक्रवार को हनुमान मंदिर पर यज्ञ का आयोजन किया गया। भगवान से पर्याप्त वर्षा के साथ गांव में सुख, शांति, समृद्धि, खुशहाली की प्रार्थना की गई। सुबह हनुमानजी का पूजन, आरती आदि के बाद हवन की शुरुआत की गई। पूर्णाहुति दोपहर में आरती के बाद प्रसाद वितरण के साथ हुई। हवन पं. बद्रीलाल शर्मा ने मंत्रोच्चार के साथ पूर्ण करवाया। शंभूसिंह सोलंकी, बद्रीसिंह चौहान, दशरथसिंह परिहार, विक्रमसिंह चौहान, कृपालसिंह परिहार, गोविंदसिंह परिहार, बद्रीलाल शर्मा, गोपाल गोस्वामी, नारायणसिंह चौहान, कपिलसिंह परिहार आदि का सहयोग रहा।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close