रतलाम (नईदुनिया प्रतिनिधि)। ग्राम धामनोद से नौगांवा के बीच निर्माणाधीन दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे (फोरलेन) से करीब तीन लाख रुपये की सामग्री चोरी होने का मामला सामने आया है। घटना दो सप्ताह पुरानी है। चोरों ने सिक्यूरिटी गार्ड को धमकाया था। डर के कारण उसने अब सैलाना थाने पर रिपोर्ट दर्ज कराई है।

जानकारी के अनुसार अलोपिंक सिक्यूरिटी कंपनी के गार्ड संतोष विश्वकर्मा निवासी ग्राम संभागंज जिला सतना हालमुकाम ग्राम धामनोद ने पुलिस को लिखित आवेदन देकर बताया कि 24 व 25 जुलाई 2022 की रात साथी सतेंद्र शुक्ला के साथ ग्राम धामनोद से नौंगावा के बीच ड्यूटी पर थे। तभी चार युवक बाइक पर व एक पिकअप वाहन में चार-पांच लड़के आए। टार्च की रोशनी से देखा तो बाइक पर आए चारो लड़कों में धामनोद के रहने वाले आरोपित अर्जुन, दशरथ, राजकुमार व गोविंद थे, जिन्हें उसने पहचान लिया। एक ने जान से मारने की धमकी दी। पिकअप से उतरे लड़के जेक, बायरल आदि सामग्री वाहन में भरकर ले गए। धमकी के कारण डर गया था। इस कारण उस दिन पुलिस में सूचना नहीं दी थी। पुलिस के अनुसार आरोपित अर्जुन, दशरथ, राजकुमार, गोविंद व उनके साथियों के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर उनकी तलाश की जा रही है।

0000

नदी में बहे युवक का शव दो दिन बाद मिला

रतलाम। रावटी थाना क्षेत्र के ग्राम सेमलखेड़ा के पास माही नदी में बने स्टाप डैम को पार करते समय पानी में बहे 45 वर्षीय अमरसिंह देवदा पुत्र गवजी देवदा निवासी ग्राम सेमलखेड़ा का शव दो दिन बाद घटनास्थल से करीब आठ किलोमीटर दूर ग्राम सेलज के ब्रिज के नीचे मिला। उल्लेखनीय है कि अमरसिंह 10 अगस्त की सुबह करीब 10 बजे स्टाप डैम से होकर अपने घर जा रहा था। तभी पानी का बहाव तेज होने से वह नदी में बह गया था। शुक्रवार सुबह साढ़े दस से ग्यारह बजे के बीच उसका शव ब्रिज के पास दिखाई दिया। पुलिस ने शव निकलवाकर जिला अस्पताल भिजवाया। पोस्टमार्टम के बाद शव स्वजन को सौंप दिया गया।

0000

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close