रतलाम (नईदुनिया प्रतिनिधि)। दीनदयाल नगर पुलिस ने अनाज व्यापारी की आंखों में मिर्च पावडर झोंककर गल्ला लूटकर ले जाने के मामले में गिरफ्तार आरोपित अलताफ खान, अश्बाब उर्फ अफरोज खान व गोलू उर्फ केजार खान को पुलिस रिमांड अवधि खत्म होने पर मंगलवार को पुनः न्यायालय में पेश किया। न्यायालय ने तीनों आरोपितों को जेल भेज दिया।

उल्लेखनीय है कि 30 जून की शाम करीब चार बजे अनाज व्यापारी 70 वर्षीय मूलचंद जैन अपने घर के अगले स्थित में स्थित अनाज दुकान में पंलग पर बैठे हुए थे। तभी दो लुटेरे उनके पास पहुंचे थे, एक लुटेरे ने हाथ में लिए गेहूं का नमूना दिखाकर उनसे कहा था कि क्या भाव खरीदोंगे। इसी बीच दूसरे लुटेरे ने उनकी आंखों में मिर्च पावडर झोंक दिया था। इसके बाद लुटेरे उनके पास रखा रुपयों से भरा गल्ला (स्टील का डिब्बा) लेकर भाग गए थे। गल्ले में चालीस से पचास हजार रुपये थे।

पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर आरोपित अलताफ, अश्बाब उर्फ अफरोज निवासी जयभारत नगर व गोलू उर्फ केजार खान निवासी न्यू काजीपुरा मेन रोड को तीन जुलाई को गिरफ्तार कर लिया था। उनके कब्जे से 36 हजार रुपये व वारदात में उपयोग की गई बाइक जब्त की थी। तीनों को चार जुलाई को न्यायालय में पेश करने पर पांच जुलाई तक पुलिस रिमांड पर रखने के आदेश दिए थे। पूछताछ में आरोपितों ने बताया था कि आटो चालक मतीन निवासी रामरहीम नगर ने अलताफ को बताया था कि मूलचंद जैन बुर्जुग है और गल्ले में रुपये रहते हैं। आसानी से वहां लूट की जा सकती है। पुलिस ने बताया की मतीन की तलाश की जा रही है।

0000

बहन घर पहुंची तो भाई फांसी के फंदे पर लटका मिला

रतलाम। बाजना थाना क्षेत्र के ग्राम पौनबट्टा निवासी 19 वर्षीय विनोद कटारा पुत्र जीवणा कटारा ने सोमवार को अपने घर में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। पुलिस के अनुसार पिछले वर्ष ही विनोद का विवाह हुआ है। एक जुलाई को उसकी पत्नी मायके चली गई थी। घटना के समय वह घर पर अकेला था। शाम साढ़े पांच बजे बड़ी बहन भूलीबाई पत्नी राकेश मईड़ा बकरा-बकरी चराकर घर पहुंची तो विनोद के कमरे का दरवाजा अंदर से बंद था। आवाज देने नहीं खोला तो भूलीबाई पास के दूसरे दरवाजे का ताला खोलकर पहुंची तो वह धोती से बंधे फंदे पर लटका था। रात में पुलिस को सूचना दी गई। मंगलवार को पोस्टमार्टम कराकर शव स्वजन को सौंप दिया गया। उसके फांसी लगाने का कारण पता नहीं चला है, जांच की जा रही है।

0000

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close