रतलाम/नामली/पिपलौदा/सेमलिया। लंपी वायरस के पशुओं में संक्रमण को लेकर कलेक्टर नरेंद्र सूर्यवंशी ने शनिवार को जिले के नामली, बरबोदना, बोदीना, सेमलिया तथा हतनारा गांव का भ्रमण कर जानकारी ली। कलेक्टर को ग्रामीणों ने बताया कि पशु चिकित्सा विभाग का अमला दवाइयां उपलब्ध करा रहा है। इस दौरान पशु चिकित्सा विभाग के संयुक्त संचालक उज्जैन केएन बामनिया, उपसंचालक रतलाम डा. आरके शर्मा तथा विभाग का मैदानी अमला उपस्थित रहा।

गायों में लंपी वायरस फैलने की जानकारी मिलते ही कलेक्टर नरेंद्र सूर्यवंशी नामली की गोपाल गोशाला पहुंचे। बीमार गायों के मामले में मौके पर मौजूद जीवदया परिवार के सदस्यों से जानकारी लेकर तत्काल बीमार गायों के अलावा सभी गायों का रविवार सुबह आठ बजे से टीके लगवाने के लिए पशु चिकित्सक अधिकारियों को निर्देशित किया। समीपस्थ गांव सेमलिया व बरबोदना में भी गायों के संक्रमित होने की जानकारी मिलने पर इन गांवों में पहुंचकर किसानों से चर्चा की। संक्रमित गायों को आइसोलेट करने के लिए किसानों को निर्देशित किया गया। एक के बाद एक लगातार गायों के संक्रमित होने से ग्रामीण क्षेत्र के किसानों में हड़कंप मचा हुआ है। हर कोई गाय के दूध के उपयोग को लेकर चिंतित हैं। उल्लेखनीय है कि नामली की गोपाल गोशाला में दो दिन में ही दो दर्जन से अधिक गायें संक्रमित होने के बावजूद स्थानीय पशु चिकित्सक विभाग द्वारा इस ओर ध्यान नहीं देने को लेकर नईदुनिया ने छह अगस्त के अंक में प्रमुखता से समाचार प्रकाशित कर प्रशासन का ध्यान आकर्षित कराया था।

हतनारा में मचा हड़कंप

गांव हतनारा में गायों में लंपी वायरस के लक्षण मिलने से हड़कंप मच गया। गाय के शरीर पर छोटी गठानें बनने के बाद घाव में बदल जाते हैं। पशु चिकित्सक अनीता भूरिया ने पशुओं को आइसोलेट करने को कहा है। लंपी वायरस में पशुओं में शुरुआती अवस्था में त्वचा पर चेचक, नाक बहना, तेज बुखार जैसे लक्षण दिखते हैं। इस वायरस की वजह से पशुओं को काफी तेजी बुखार आता है। बुखार आने के बाद उनकी शारीरिक क्षमता गिरने लगती है। कुछ दिनों बाद पशुओं के शरीर पर चकते नजर आने लगते हैं। किसान हरिओमसिंह पंवार का कहना है कि अभी तक चार गाय बीमार हुई हैं। पशु चिकित्सालय से अभी तक कोई दवाई नहीं दी गई। प्राइवेट दवाई लाकर इलाज करवा रहे हैं।

किसानों को दिए दिशा निर्देश

सेमलिया। पशुओं में तेजी से फैल रहे लंपी वायरस की शिकायत पर कलेक्टर नरेंद्र सूर्यवंशी ने गांव पहुंचकर किसानों के साथ गायों को देखा तथा बीमारी की रोकथाम के लिए किसानों को दिशा निर्देश दिए। डिप्टी डायरेक्टर एनके शर्मा, पशु चिकित्सा अधिकारी नवीन शुक्ला, सेमलिया पशु अस्पताल प्रभारी आरसी मईड़ा, तहसीलदार नामली बीएस ठाकुर, ग्रामीणजन आदि उपस्थित थे।

0000

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close