रतलाम(नईदुनिया प्रतिनिधि)। किसी भी स्थिति में शहरवासियों को नियमित जल उपलब्धता सुनिश्चित करें। किसी भी वार्ड में जल संकट पाए जाने पर उस वार्ड के प्रभारी के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी। यह निर्देश गुरुवार को कलेक्टोरे सभाकक्ष में आयोजित बैठक में कलेक्टर नरेंद्र सूर्यवंशी ने जलापूर्ति की समीक्षा के दौरान दिए।

कलेक्टर ने शहर की आबादी, वार्डों की संख्या, निगम के संसाधनों, धोलावाड़ में जल उपलब्धता, शहर में हैंडपंपों, ट्यूबवेल की उपलब्धता की जानकारी लेने के बाद कहा कि नगर निगम के पास संसाधनों की कमी नहीं, पानी भी पर्याप्त है, लेकिन प्लानिंग का अभाव है। इस कारण कई हिस्सों में संकट देखने में आया है। बताया गया कि अधिक समस्या शहर के आउटर भाग में है। इसमें सैलाना रोड, करमदी रोड आदि सम्मिलित हैं। वर्तमान में 47 एमएलडी की प्रतिदिन आवश्यकता और सप्लाई अधिकतम 31 एमएलडी की हो रही है।

कलेक्टर ने निर्देश दिए कि निगम के कार्यपालन यंत्री सुरेशचंद्र व्यास, हनीफ शेख, सत्यप्रकाश आचार्य प्लान तैयार करके बताएं। वार्डवार आकलन करें, संकटग्रस्त हिस्सों में टैंकरों की संख्या बढ़ाएं। इसके बाद वे स्वयं शहर में फील्ड की स्थिति देखेंगे। बैठक में निगमायुक्त सोमनाथ झारिया, एसडीएम संजीव पांडे सहित निगम के कार्यपालन यंत्री सहायक यंत्री, उपयंत्री आदि उपस्थित रहे।

(000बाक्स000)

पानी नहीं मिलने से परेशान लोगों ने लक्ष्‌मणपुरा में किया चक्काजाम

गुरुवार को पोलोग्राउंड टंकी से महालक्ष्‌मी नगर, वकील कालोनी आदि क्षेत्रों में होने वाले जलवितरण का क्रम एक दिन आगे बढ़ा दिया गया। इसी तरह लक्ष्‌मणपुरा, पीएनटी कालोनी में पानी की किल्लत से लोग परेशान होते रहे। नाराज लोगों ने दोपहर करीब एक बजे लक्ष्‌मणपुरा तिराहे पर चक्काजाम कर दिया। सूचना मिलने पर निगम सहायक यंत्री सत्यप्रकाश आचार्य मौके पर पहुंचे और रहवासियों से चर्चा की। लोगों ने तीन दिन से पानी नहीं मिलने से हो रही परेशानी से अवगत कराया। आचार्य ने टैंकर से आपूर्ति का आश्वासन दिया। इसके बाद चक्काजाम समाप्त किया गया।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close