रतलाम (नईदुनिया प्रतिनिधि)। बिलपांक थाना क्षेत्र के ग्राम धराड़ के समीप एक खेत में स्थित धार्मिक स्थल से छेड़छाड़ करने के तीन दिन बाद भी आरोपित की गिरफ्तारी नहीं होने से ग्रामीणों व हिंदू संगठनों के कार्यकर्ताओं का रोष फूट पड़ा। मंगलवार को ग्रामीणों ने महू-नीमच हाईवे (फोरलेन) पर धराड़ पुलिस चौकी के सामने धरना देकर आरोपित को गिरफ्तार करने की मांग की

उल्लेखनीय है कि 13 जुलाई को परमानंद वर्मा के खेत पर स्थित मंदिर में विराजित श्री हनुमानजी की प्रतिमा पर किसी शरारती तत्व द्वारा जला हुआ कपड़ा रख दिया था। पुलिस ने आरोपित की तलाश कर गिरफ्तार करने का आश्वासन दिया था, लेकिन तीन दिन में भी किसी के विरुद्ध कार्रवाई नहीं हुई। इससे ग्रामीण और हिंदूवादी संगठनों ने मंगलवार को धराड़ बंद का ऐलान किया। बड़ी संख्या में ग्रामीण व हिंदू संगठनों के कार्यकर्ता पुलिस चौकी पहुंचे व प्रदर्शन करने लगे। एसडीओपी संदीप निगवाल व बिलपांक टीआइ दीपक शेजवार मौके पर पहुंचे। ग्रामीणों ने ग्राम सुराना की घटना को भी नजरअंदाज करने का आरोप लगाया। उनका कहना था कि सोमवार को हर घर तिरंगा अभियान में सुराना गांव में रैली निकालने पर एक पक्ष ने विवाद किया था। उसी समय आपत्ति दर्ज कराई गई थी, लेकिन पुलिस ने 24 घंटे बाद भी कोई कार्रवाई नहीं की। ग्रामीणों ने करीब एक घंटे बाद आरोपितों पर कार्रवाई को लेकर पुलिस अधिकारियों के आश्वासन पर धरना समाप्त किया।

पंचायत चुनाव की रंजिश में मारपीट

रतलाम। बाजना थाना क्षेत्र के ग्राम लालापुरा में पंचायत चुनाव की रंजिश के चलते दो लोगों ने बिजली कंपनी के अस्थायी आपरेटर दलीचंद्र डोडियार निवासी ग्राम डाबर के साथ मारपीट की। पुलिस के अनुसार दलीचंद ने रिपोर्ट की है कि 15 अगस्त की शाम वह भाई विकास के साथ अपनी पत्नी को लेने के लिए ग्राम डाबर जा रहा था। ग्राम लालपुरा पहुंचने पर आरोपित कनीराम डोडियार व मुकेश डोडियार ने उसका रास्ता रोककर पंचायत चुनाव की रंजिश को लेकर गाली-गलौच कर लकड़ी से मारपीट की। आरोपितों के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close