रतलाम (नईदुनिया प्रतिनिधि)। कोरोना संक्रमण के कारण बंद स्कूल, कालेज खोलने के लिए शासन स्तर से आने वाले निर्देशों का पालन किया जाएगा। जिला स्तर पर अलग से कोई गाइडलाइन लागू नहीं होगी। यह निर्णय गुरुवार को प्रभारी मंत्री ओपीएस भदौरिया की अध्यक्षता में हुई जिला संकट प्रबंधन समूह की बैठक में लिया गया।

मालूम हो कि सीएम शिवराजसिंह चौहान ने शैक्षणिक संस्थान खोलने के लिए गाइडलाइन तय कर जिला संकट प्रबंधन समूह द्वारा अंतिम निर्णय करने की बात कही थी। बैठक में प्रभारी मंत्री ने सैंपल चेकिंग गंभीरता के साथ करने के निर्देश दिए। बैठक में सांसद गुमानसिंह डामोर, विधायक चेतन्य काश्यप, विधायक दिलीप मकवाना, विधायक डा. राजेंद्र पांडे, विधायक मनोज चावला, विधायक हर्षविजय गेहलोत व कलेक्टर कुमार पुरुषोत्तम, एसपी गौरव तिवारी सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे। प्रभारी मंत्री ने कहा कि यदि तीसरी लहर आती है तो उससे निपटने के लिए पूर्व से ही पर्याप्त संख्या में संसाधन उपलब्धता सुनिश्चित की जाएगी। रेंडम चेकिंग जारी रखें और बाल चिकित्सालय को कोविड उपचार के लिए अपडेट रखा जाए। बताया गया कि सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर कार्यरत 25 सेक्टर मेडिकल आफिसर को प्रशिक्षित किया गया है। एएनएम, आशा तथा आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को भी प्रशिक्षित किया जा रहा है। शासकीय मेडिकल कालेज में 114 नवनियुक्त नर्सिंग स्टाफ को आइसीयू कोविड- एचडीयू कोविड-आइसोलेशन में मरीजों के प्रबंधन तथा देखभाल के लिए प्रशिक्षित किया गया है।

आक्सीजन कंसंट्रेटर चालू हालत में रखें

जिले के प्रत्येक प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर बच्चों के लिए 5-5 बिस्तर आरक्षित कर 2-2 आक्सीजन कंसंट्रेटर उपलब्ध कराए गए हैं। बाल चिकित्सालय में आक्सीजनयुक्त 70 बिस्तर का वार्ड बनाया जा रहा है। विधायक चेतन्य काश्यप ने कहा कि चिकित्सा संस्थाओं में उपलब्ध कराए गए आक्सीजन कंसंट्रेटर मशीनों को चलाएमान रखने के लिए प्रत्येक छह माह में आपरेट किया जाए ताकि वह खराब नहीं हो। एमसीएच में पीएसए आक्सीजन प्लांट लगाया जाए। प्रभारी मंत्री द्वारा निर्देशित किया गया कि कील कोरोना सर्वे टीम अपने भ्रमण के दौरान डेंगू रोग के उपचार तथा प्रबंधन का कार्य करें।

मौत के आंकड़े छुपाए जा रहे हैं

बैठक में सैलाना विधायक ने कहा कि जिले में करीब 1200 से भी अधिक लोगों की मौत हुई, लेकिन मौतें कम बताई जा रही हैं। सच्चाई स्वीकार किए बगैर सुधार नहीं हो सकता। सरकार बाजना, सैलाना में आक्सीजन प्लांट लगाने की घोषणा कर रही है, लेकिन यहां अब तक डाक्टरों की तैनाती नहीं की गई है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags