रतलाम। दो दिन बादलाई मौसम के बाद जिले में गुरुवार को फिर बदलाव आ गया। गर्मी और उमस से लोग बेचैन होते रहे। रुक-रुककर हो रही रिमझिम-तेज बारिश से वर्तमान में खरीफ फसलों की स्थिति बेहतर है, लेकिन जिलेवासियों को अभी भी झमाझम बारिश की झड़ी की दरकार है। जिले में अब तक बारिश की झड़ी नहीं लगी है। अधिकांश जलस्रोत जहां खाली पड़े हैं, वहीं नदी-नालों में भी बहाव शुरू नहीं हो पाया है।

सुबह आठ बजे समाप्त हुए बीते चौबीस घंटों के दौरान जिले में 2.1 मिमी औसत बारिश हुई। जावरा तहसील में एक मिमी, पिपलौदा में दो मिमी, बाजना में आठ मिमी, रतलाम में चार मिमी और सैलाना तहसील में दो मिमी पानी बरसा। आलोट, ताल और रावटी तहसील सूखी रही। जिला गत वर्ष और सामान्य बारिश से लगातार पिछड़ता जा रहा है। अब तक नौ इंच पानी बरस चुका है। गत वर्ष इस अवधि में साढ़े 12 इंच पानी बरसा था। साढ़े तीन इंच बारिश कम हुई है।

दिन व रात के तापमान में वृद्धि

अधिकतम तापमान 31.2 व न्यूनतम 23.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। बुधवार की तुलना में गुरुवार को न्यूनतम तापमान में 0.2 डिग्री सेल्सियस और अधिकतम तापमान में भी 2.2 डिग्री सेल्सियस की बढ़ोतरी दर्ज की गई। सुबह की आर्द्रता 90 व शाम की 76 प्रतिशत रही, जो बुधवार को क्रमशः 90 व 85 प्रतिशत थी।

जिले में बारिश की स्थिति

तहसील अब तक गत वर्ष की बारिश (मिमी)

आलोट 183.0 355.0

जावरा 308.0 352.0

ताल 215.6 393.2

पिपलौदा 185.0 232.0

बाजना 138.0 270.0

रतलाम 222.0 276.0

रावटी 283.0 344.8

सैलाना 310.0 330.0

औसत 230.6 319.1

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags