रीवा, नईदुनिया प्रतिनिधि। रीवा-प्रयागराज मार्ग एक बार फिर रक्त रंजित हो गया है। यहां बुधवार-गुरुवार की दरमियानी रात्रि खड़े ट्रक में पीछे से तेज रफ्तार सफारी कार में घुस गई। हादसे में वाहन चला रहा मालिक (चालक) बुरी तरह से जख्मी हो गया। वहीं एक युवक के घायल होने की चर्चा है। हाइवे में घटना देख आसपास के राहगीरों ने तुरंत डायल 100 को सूचना दी। जानकारी के बाद थाना पुलिस 108 एंबुलेंस लेकर घटनास्थल पर पहुंची है।

जहां युवक की गंभीर हालत को देखे एंबुलेंस स्टाप संजय गांधी अस्पताल लेकर पहुंचा है। एसजीएमएच में कुछ ही मिनटों तक चले उपचार के बाद युवक ने दम तोड़ दिया है। चिकित्सकों ने रात में युवक की लाश को मर्चुरी में रखवा दिया था। इसके बाद पीएम की कार्रवाई गुरुवार की दोपहर की गई है। घटना गढ़ थाना अंतर्गत घुमा-कटरा बाइपास के पास हुई है। वहीं एक युवक के घायल होने की बात सामने आई है।

गढ़ थाना प्रभारी निरीक्षक आरके गायकवाड़ ने बताया कि 23-24 नवंबर की रात 2 बजे ढाबा मालिक गुनी पांडे अपने सफारी वाहन से कहीं जा रहे थे। जैसे ही वह अपने ढाबा से महज 500 मीटर की दूरी पर पहुंचे। तभी घुमा-कटरा बाइपास पर बुधवार की शाम 4 बजे से रेत लेकर खड़े ट्रक में पीछे से घुस गए। दावा है कि ट्रक बिगड़ गया था। भीषण हादसे में वाहन मालिक गुनी पांडे बुरी तरह से फंस गए।

काफी मशक्कत के बाद घायल को निकाला जा सका :

सूचना के बाद पहुंची पुलिस ने काफी मशक्कत के बाद ढाबा मालिक को सफारी कार से बाहर निकाला है। उसके सिर और चेहरे में गंभीर चोट को देख एसजीएमएच भेजा गया था। यहां डाक्टर ने कुछ ही मिनटों बाद नब्ज टटोलते ही मृत घोषित कर दिया है। रात होने के कारण गुरुवार को पंचनामा कार्रवाई कर पीएम कराया गया है। इसके बाद शव स्वजन को सौंप दी है।

मौत का नेशनल हाइवे-30 :

बता दें कि नेशनल हाइवे 30 मौत का हाइवे बन गया है। यहां हर दिन दुर्घटनाएं हो रही है। बीते सप्ताह हुए ज्यादातर हादसे ट्रक में पीछे घुसने से हुए थे। हाल ही में कुछ दिन पहले अनूपपुर से प्रयागराज जा रही बस में चालक सहित दो लोगों की मौके पर मौत हो गई थी। जबकि सोते समय 30 यात्री घायल हो गए थे। वहीं पिछले माह सोहागी घाटी में 15 यात्रियों ने दम तोड़ दिया था। जबकि 28 पैसेंजर घायल हुए थे।

Posted By: Jitendra Richhariya

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close