सीधी, नईदुनिया प्रतिनिधि। जिले के शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्र में अधिकृत एवं पंजीकृत साहूकारों द्वारा उच्च दर पर जरूरतमंद व्यक्तियों को ऋण दिया जाता है। जिनकी ब्याज दरें इतनी ज्यादा होती हैं कि ॠण लेने वाला व्यक्ति लिए गए मूलधन से चार से पांच गुना पैसा चुकाने में साहूकारों को दे देता है। अवैध रूप से साहूकारों के कारोबार को रोकने के लिए साहूकारों की मनमानी रोकने तथा आम आदमी अत्याधिक सूदखोरी के कारण आर्थिक रूप से कमजोर नहीं हो इसके लिए मध्यप्रदेश साहूकार (संशोधन) विधेयक 2017 के माध्यम से मूल मध्य प्रदेश साहूकार अधिनियम 1934 में आवश्यक संशोधन किया गया है।

कई लोग उठा रहे घातक कदम : कई साहूकार ऋण, ब्याज की वसूली में ऋणियों को शारीरिक एवं मानसिक प्रताड़ना भी देते हैं। अत्यधिक प्रताड़ना के चलते उसके स्‍वजन आत्महत्या जैसे घातक कदम भी उठाने को मजबूर हो जाते हैं। ऐसी घटनाएं जिले में घटित ना हो इसके लिए पुलिस अधीक्षक सीधी पंकज कुमावत द्वारा मुख्यालय स्तर पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अंजूलता पटले की अध्यक्षता में एसआइटी का गठन किया गया है।

इनकी बनाई गई टीम : टीम में अंजूलता पटले अध्यक्ष उप पुलिस अधीक्षक मुख्यालय सीधी, गायत्री तिवारी सदस्य, निरीक्षक आएएन मिश्र रीडर शाखा पुलिस अधीक्षक कार्यालय सीधी सदस्य, निरीक्षक राम सिंह पटेल थाना प्रभारी अजाक सदस्य, सहायक उप निरीक्षक एमआर तिवारी प्रभारी शिकायत शाखा सदस्य साथ ही प्रत्येक थाना स्तर पर उस अनुविभाग के एसडीओपी, संबंधित थाने के थाना प्रभारी एवं चौकियों के चौकी प्रभारियों को इस तरह का अवैध व्यवसाय (अवैध साहूकारी) करने वाले व्यक्तियों को चिन्हित करने हेतु निर्देश दिए गए हैं।

पुलिस अधीक्षक ने की अपील : पुलिस अधीक्षक द्वारा जिला वासियों से अपील की गई है कि अगर आप ऐसे किसी व्यक्ति को जानते हैं जो अवैध साहूकारी करता है तो उसकी शिकायत अपने नजदीकी थाना या फिर मेरे कार्यालय में मेरे द्वारा गठित एसआइटी के समक्ष पर उपस्थित होकर अवश्य दें जानकारी देने वाले का नाम पता गोपनीय रखा जाएगा।

Posted By: Brajesh Shukla

NaiDunia Local
NaiDunia Local