सीधी। नईदुनिया प्रतिनिधि। जिले में एक महिला श्रद्धालु ने अंधविश्‍वास के चलते अपनी जीभ ही काटकर देवी प्रतिमा को चढ़ा दी। बताया जा रहा है कि यह युवती रोज माता के मंदिर आती थी। वह रोज की तरह मंदिर में आई थी। पूजा-अर्चना करने के दौरान उसने अपनी जीभ काटी और खिड़की के बाहर से देवी प्रतिमा के चरणों में अर्पित कर दी। युवती द्वारा मां को जीभ काटकर अर्पित कर देने की बात पूरे गांव में फैल गई।

प्रशासन को भी इस बात की सूचना मिल गई । इसके बाद तुरंत युवती के इलाज के लिए चिकित्सक को गांव तक भेजा गया।युवती की हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है। सीधी जिले की ग्राम पंचायत बड़ागांव में यह घटना है।

यहां के देवी मंदिर में युवती राजकुमारी ने जीभ काटकर मां को अर्पित की। 21 साल की राजकुमारी ने जीभ काटी और माता के चरणों में रख दी। इसके बाद युवती की हालत खराब हो गई, उसे इलाज के लिए हॉस्पिटल ले जाया गया और वहां भर्ती कराया गया है। अभी तक इस बात का पता नहीं चल सका है कि युवती ने ऐसा क्यों किया?

बताया जा रहा है कि यह युवती हर रोज देवी मंदिर में पूजा अर्चना करने आती है। ग्रामीणों का कहना है कि देवी माता में उसकी आस्था अटूट है।

ग्रामीणों के अनुसार गांव बघौड़ी में रहने वाली राजकुमारी पिता लालमणि पटेल बड़ा गांव के प्रसिद्ध हनुमान मंदिर के बाजू के देवी मंदिर में आई थी। उसने अपनी मां के साथ यहां पूजा की. इसी दौरान उसने अपनी जीभ काटी और खिड़की के बाहर से देवी मां के चरणों पर फेंक दी। इस पर उसकी मां भी हैरान रह गई।

मां ने तुरंत आसपास के लोगों को इसकी सूचना दी तो लोगों ने पुलिस को बताया। यह खबर जल्द ही पूरे गांव में भी फैल गई। मंदिर में युवती को देखने के लिए गांव वालों का हुजूम सा लग गया। पुलिस दल और डॉक्टर भी मंदिर में पहुंचे। इसके बाद घायल युवती को अस्पताल में भर्ती कराया गया।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close