रीवा। नईदुनिया न्यूज

मध्यप्रदेश राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण जबलपुर के निर्देशानुसार राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण नई दिल्ली एवं राष्ट्रीय महिला आयोग के संयुक्त तत्वावधान में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण रीवा द्वारा जिला एवं सत्र न्यायाधीश एवं अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण अरूण कुमार सिंह के मुख्य आतिथ्य में कोरोना संबंधी शासन की समस्त गाइडलाइन का पालन करते हुए। संविधान दिवस के अवसर पर विधिक साक्षरता शिविर आयोजित किया गया।

जिला एवं सत्र न्यायाधीश श्री सिंह ने कहा कि संविधान की प्रस्तावना संविधान की आत्मा है। संविधान के समस्त आदर्शों की झलक संविधान की प्रस्तावना में परिलक्षित होती है। संविधान के प्रावधानों व उसके आदर्शो का पालन करना हमारा कर्तव्य है और संविधान का पालन करने से ही विधि के शासन की व्यवस्था होती है। उन्होंने कहा कि सामाजिक, आर्थिक व राजनैतिक न्याय की व्यवस्था से समाज के सभी वर्गो को प्रगति करने का अवसर प्राप्त होता है और सभी का कल्याण होता है।

जिला विधिक सहायता अधिकारी अभय कुमार मिश्रा ने बताया कि इस अवसर पर जिला न्यायालय के समस्त न्यायाधीशों के द्वारा संविधान की प्रस्तावना का वाचन सामूहिक रूप से किया गया व संवैधानिक मूल्यों व मौलिक कर्तव्य विषय पर विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन किया गया। शिविर में प्रधान न्यायाधीश वाचस्पति मिश्रा, प्रथम अपर जिला न्यायाधीश गिरीश दीक्षित , सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण विपिन कुमार लवानिया, अपर जिला न्यायाधीश सुधीर सिंह राठौड़ ,नरेन्द्र कुमार गुप्ता, संजीव सिंघल, राजेन्द्र कुमार शर्मा, सुबोध कुमार विश्वकर्मा, आसिफ अब्दुल्ला,नरेन्द्र कुमार गुप्त,उपेन्द्र देशवाल, सुी महिमा कछवाहा एवं मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट योगीराज पाण्डेय एवं समस्त व्यवहार न्यायाधीष एवं विधिक सहायता अधिकारी अभय कुमार मिश्रा उपस्थित थे।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस