रीवा नईदुनिया प्रतिनिधि। रीवा जिले के सिरमौर जनपद अंतर्गत माडौ आदिवासी बस्ती में उल्टी दस्त से 2 ग्रामीणों की मौत हो गई है। करीब 3 दिन के भीतर 25 से अधिक मरीज उल्टी दस्त के सामने आए हैं। चार गंभीर को इलाज के लिए सिविल अस्पताल सिरमौर में भर्ती कराया गया है। वही एक गंभीर कुपोषित को एनआरसी कक्ष में देखरेख की जा रही है। स्वास्थ्य विभाग की 5 सदस्य टीम शिविर लगाकर इलाज में जुटी है। यह टीम एक सप्ताह तक कैंप लगाकर घर-घर इलाज करेगी। यदि किसी को ज्यादा तकलीफ हुई तो एंबुलेंस के जरिए सिरमौर अस्पताल या फिर संजय गांधी मेडिकल कॉलेज रीवा पहुंचाने का काम किया जा रहा है।

बता दें कि 10 जून की रात 5 वर्षीय मासूम आकाश कोल को उल्टी दस्त की शिकायत पर संजय गांधी अस्पताल में उपचार के लिए लाया गया था। जहां उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई। 11 जून की रात 80 साल की वृद्घा कुसुम कली गांव स्थित अपने घर में ही उल्टी दस्त के कारण ही दम तोड़ दिया। हालांकि स्वास्थ विभाग द्वारा वृद्घा को अस्पताल में डाक्टरों की निगरानी में रहने को कहा था लेकिन उपचार लेने के बाद वापस घर चली गई थी। चर्चा है कि माडौ गांव के आदिवासी बस्ती में 7 जून को शादी समारोह का कार्यक्रम था। इसके बाद उल्टी दस्त की शिकायत शुरू हुई है। आशंका है कि खान खान पान में फूड प्वाइजनिंग हुई होगी। वहीं दूसरी तरफ कुआं का पानी पीने के कारण गांव के बधो और बुजुर्ग बीमार हुए होंगे। 10,11 और 12 जून के भीतर करीब 25 से अधिक उल्टी दस्त की शिकायत मिली है। गांव के हर कुएं में ब्लीचिंग पाउडर डालने का काम किया जा रहा है। खानपान के लिए लोगों को हिदायत दी जा रही है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close