रीवा। नईदुनिया प्रतिनिधि

शहर के समान तिराहे में चल रहे निर्माण कार्य के बीच शनिवार की सुबह लगभग 10 बजे सरदार सेना का सदस्य उमेश पटेल मौके पर पहुंचा और निर्माण कार्य में लगी हाइड्रोलिक टावर के ऊपरी हिस्से में चड़कर अनशन शुरू कर दिया। टावर में चढ़ा हुआ युवक उमेश का कहना था कि निर्माण कार्य के दौरान सरदार पटेल की प्रतिमा स्थल पर छेड़छाड़ की जा रही है और यह लौह पुरुष का अपमान है। जिसे वह बर्दाश्त नहीं करेगा। प्रशासन इस निर्माण कार्य के दौरान लौह पुरुष की आन- बान और शान का ध्यान रखें तथा उनकी प्रतिमा स्थल पर किसी भी तरह का छेड़छाड नहीं होना चाहिए । उसके टावर में चढ़ने की जानकारी लगते ही समाजसेवी विश्वनाथ उर्फ चोटी वाला भी मौके पर पहुंचे और वह भी टावर में बैठ कर इसका विरोध शुरू कर दिए हैं। देर शाम तक दोनों ही समाजसेवी अपनी मांगों पर अडिग रहे और वे टावर में बैठकर विरोध करते रहे।

मौके पर पहुंचा अमला : सरदार पटेल प्रतिमा स्थल पर विरोध प्रदर्शन की जानकारी लगते ही एसडीएम हुजूर फरहीन खान तथा थाना प्रभारी समान शिव पूजन मिश्रा सहित अन्य अधिकारी और पुलिस बल मौके पर पहुंचा। वे लगातार समझाइश देते रहे लेकिन आंदोलनकारी टावर से नीचे नहीं उतरा। उनकी मांग थी कि मौके पर कलेक्टर पहुंचकर पहले इसका निराकरण करें। उनकी मांग पर नगर निगम कमिश्नर सभाजीत यादव भी मौके पर पहुंचे लेकिन आंदोलनकारी उनकी भी बातों को सुनने के लिए तैयार नहीं था।

फ्लाईओवर का हो रहा निर्माण कार्य : समान तिराहे के ट्रैफिक व्यवस्था को बेहतर करने के लिए नगर निगम प्रशासन द्वारा फ्लाईओवर का निर्माण का कार्य ठेके पर करवाया जा रहा और ठेकेदार के द्वारा इन दिनों तेज गति के साथ फ्लाईओवर के निर्माण कार्य के लिए काम जारी किए हुए हैं ।

उक्त फ्लाईओवर तीन प्रमुख रास्तों को कवर करेगा। जिनमें शहर के साथ हनुमाना और सीधी की ओर जाने वाले मार्ग में फ्लाईओवर बनाया जा रहा है। सरदार पटेल की प्रतिमा समान तिराहे के बीचों बीच स्थित ऐसे में प्रतिमा का कुछ हिस्सा पिलर खडा करने में समस्या बनकर सामने आ रहा था और उसे तोडने का काम ठेकेदार के द्वारा प्रशासन के निर्देश पर करवाया जा रहा था। इसी बीच सरदार सेना सहित कई संगठन के लोग विरोध शुरू कर दिए। ज्ञात हो कि समान तिराहे पर न्यू सरदार पटेल अंतरराज्यीय बस स्टैंड का निर्माण कार्य करवाया गया था और निर्माण के समय समान तिराहे पर लौह पुरुष की आदमकद प्रतिमा स्थापित की गई थी।

ठेकेदार पर दर्ज हो देशद्रोह का मामला : टावर पर चढ़कर अनशन कर रहे उमेश पटेल और विश्वनाथ पटेल की मांग है कि सरदार पटेल प्रतिमा स्थल पर तोड़फा़ेड़ करने वाले ठेकेदार के खिलाफ देशद्रोह का मामला दर्ज किया जाए तथा समान तिराहे में संचालित शराब दुकान को बंद करवाया जाए।

उन्होंने बताया शराब दुकान होने के कारण शराब पीने वाले लोग खाली सीसी सरदार पटेल की प्रतिमा स्थल पर फेंक देते हैं। जिससे लौह पुरूष की प्रतिमा का अपमान हो रहा है। उक्त दोनों मांगों पर प्रशासन अबिलंब निर्णय लें।

Posted By: Nai Dunia News Network