बीना (नवदुनिया न्यूज)। मैरिज गार्डन और धर्मशाला संचालकों को पंजीयन कराना अनिवार्य कर दिया गया है। नगरपालिका ने 31 मई को 16 मैरिज गार्डन और धर्मशाला संचालकों को नोटिस जारी किया था, लेकिन अब तक सिर्फ 7 लोगों ने पंजीयन कराने के लिए आवेदन किया है। आवेदन न करने वाले शेष नौ मैरिज गार्डन और धर्मशाला संचालकों 10-10 हजार रुपये जुर्माना लगाया गया है। निर्धारित अवधि में जुर्माना जमा न करने पर दोबारा नोटिस जारी कर कार्रवाई की जाएगी। नगरपालिका से मिली जानकारी के मुताबिक शहर में 16 मैरिज गार्डन और धर्मशालाएं संचालित हो रही हैं। शादियों के लिए यह गार्डन और धर्मशाला किराए पर दिए जाते हैं। लेकिन हैरानी की बात तो यह है कि गार्डन संचालक नियमों का पालन नहीं कर रहे हैं। एक महीने पहले तक एक भी मैरिज गार्डन का पंजीयन नहीं था। वर्ष 2021 में नए नियम लागू होने के बाद बिना पंजीयन मैरिज हाल संचालित करना गैरकानूनी है। आदेश के मुताबिक शादी के लिए जिन संस्थानों को किराए पर दिया जाता है उन सभी को पंजीयन कराना अनिवार्य है। इसके चलते नगरपालिका ने 31 मार्च नोटिस जारी कर पंजीयन के लिए आवेदन करने 7 दिन का समय दिया था। लेकिन सोमवार तक सिर्फ 7 ने पंजीयन कराने के लिए आवेदन किया है। नोटिस का जवाब और पंजीयन के लिए आवेदन न करने वाले नौ लोगों पर 10-10 हजार रुपये जुर्माना लगाया गया है। नोटिस के माध्यम से सात दिन के अंदर जुर्माना राशि जमा करने का आदेश दिया गया है। आदेश न मानने वालों को दोबारा नोटिस जारी कर वैधानिक कार्रवाई की जाएगी।

अधिकारी करेंगे भौतिक सत्यापन

नपा अधिकारियों ने बताया कि सभी मैरिज गार्डन संचालकों को पंजीयन कराने के लिए आवेदन करने का आदेश दिया गया है। सभी मैरिड गार्डन और धर्मशाला संचालकों के आदेवन आने के बाद नपा अधिकारी मौके पर जाकर भौतिक सत्यापन करेंगे। इसमें पार्किंग व्यवस्था, टायलेट की सुविधा, प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड, बिजली कंपनी, नगरपालिका की एनओसी सहित अन्य बिंदुओं पर भौतिक सत्यापन किया जाएगा। निर्धारित मापदंडों पर खरा न उतरने पर पंजीयन निरस्त किया जाएगा।

पंजीयन कराना अनिवार्य

वर्ष 2021 में जारी गई गाइड लाइन के अनुसार सभी मैरिज गार्डन संचालकों को पंजीयन कराना अनिवार्य है। इसके लिए नियमों में राहत भी दी गई है। इसके बाद भी अगर मैरिज गार्डन संचालक पंजीयन नहीं कराएंगे तो उनके खिलाफ नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।

सुरेखा जाटव, सीएमओ, नगरपालिका, बीना

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close