दीपक चौरसिया/ देवरीकला (नवदुनिया न्यूज)। समर्थन मूल्य पर खरीदे गए गेहूं का भुगतान करने में अब खाद्य आपूर्ति निगम आनाकानी कर रहा है। निगम ने जिले भर से खरीदे गए लगभग 50 हजार क्विंटल गेहूं को नान एफएक्यू (फेयर एवरेज क्वालिटी) बताकर भुगतान करने से इनकार कर दिया है। इसमें ब्लाक के 40 किसानों का लगभग 940 क्विंटल गेहूं शामिल है। बताया जा रहा है कि किसानों का अनाज चमकविहीन है।

समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीदी मामले में खाद्य निगम के अधिकारियों ने लाखों क्विंटल गेहूं को चमक विहीन बताकर किसानों का भुगतान अटका दिया है। जिससे किसान परेशान हैं और सरकार को कोस रहे हैं। दरअसल समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीदी के दौरान किसानों को यह नहीं बताया गया था कि चमक विहीन गेहूं नहीं खरीदा जाएगा। प्रतिवर्ष अनुसार इस वर्ष भी किसानों से गेहूं खरीदा गया, लेकिन खाद्य आपूर्ति निगम द्वारा चमक विहीन गेहूं घोषित करके हजारों क्विंटल का भुगतान रोक दिया गया है। जबकि केंद्रों से अनाज खरीद कर भेजा गया है वह सर्वेयर द्वारा पास किया गया था। अनाज सागर की गोदामों में भरा पड़ा है और किसान पिछले एक माह से भुगतान के लिए समिति प्रबंधकों के यहां चक्कर काट रहे हैं। सागर में करीब 50 हजार क्विंटल गेहूं चमक विहीन बताकर विभिन्ना गोदामों में रखवा दिया है। जो अभी नागरिक आपूर्ति निगम ने हस्तांतरण नहीं किया है। जिससे किसानों को भुगतान नहीं हो पाया है।

बोरिया समिति के चालीस किसान परेशान

ब्लाक में बोरिया सेवा सहकारी समिति के करीब 40 किसानों का 940 क्विंटल गेहूं चमक विहीन बताकर सागर की साईंखेड़ा गोदाम में रखवा दिया गया है। इन किसानों का करीब एक माह बीत जाने के बाद भी उनके खातों में पैसा नहीं पहुंचा है। रामदयाल कुर्मी, बृजेश दुबे, अशोक पांडे के अनुसार खरीदी के वक्त ही बता देते तो हम मंडी में अनाज बेच देते। वहां तो नगद भुगतान होता है।

थक गए चक्कर लगाते-लगाते

समिति द्वारा उनका गेहूं खरीदा गया और उनके खाते में पैसा नहीं पहुंच पा रहा है। समिति प्रबंधक के यहां चक्कर लगाते लगाते थक गए हैं। वह कहते हैं कि आपका गेहूं चमक विहीन है। जबकि खरीदी के दौरान यह किसी ने नहीं बताया था कि यह गेहूं नहीं खरीदा जाएगा या इसका भुगतान नहीं मिलेगा।

- किसान मनोहर चौबे, ग्राम सर्रा

कैसे करें अगली फसल की तैयारी

हमने फसल इसलिए बेची थी कि रुपयों की जरूरत थी। आगे भी फसल की तैयारी करनी है। एक माह से परेशान हैं, भुगतान हो नहीं पा रहा है। गेहूं चमक विहीन था तो यही मना कर देते।

- गोविंद कुर्मी, किसान

अधिकारियों ने रिजेक्ट किया है गेहूं

साईंखेड़ा गोदाम में चमक विहीन गेहूं रखा हुआ है। भारतीय खाद्य निगम के अधिकारियों ने जांच के दौरान चमक विहीन बता कर रिजेक्ट कर दिया है। यह अनाज अलग गोदामों में रखवा दिया है। सिविल सप्लाईज कार्पोरेशन द्वारा इस संबंध में कलेक्टर सागर को भी पत्र लिखा है। इस मामले में अभी निर्णय नहीं हुआ है कि गेहूं पास होगा या फेल। पास हुआ तो किसानों के खातों में पैसा आएगा, अन्यथा समिति को लौटा दिया जाएगा।

- सतीश बिसारिया, सांईखेड़ा, गोदाम प्रभारी

बीते सालों में कुछ छूट थी

चमक विहीन गेहूं पर पिछले सालों में प्रतिशत के अनुसार छूट रही है। लेकिन इस बार चमक विहीन गेहूं लेना ही नहीं था। इस साल चमक विहीन गेहूं आया है और यदि गेहूं को रिजेक्ट कर देते तो किसानों की समस्या बढ़ जाती। इस संबंध में कलेक्टर ने उच्च अधिकारियों से बात की है और गेहूं को स्टोरेज करा दिया गया है। छूट मिलेगी तो उन किसानों का गेहूं ले लिया जाएगा और भुगतान कर दिया जाएगा।

- योगेश दीक्षित, सर्वेयर सुपरवाइजर, नागरिक आपूर्ति निगम सागर

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close