सागर(नवदुनिया प्रतिनिधि)। आज की डिजिटल दुनिया में डेटा का सबसे ज्यादा महत्व है। ओपन डेटा की उपलब्धता से विकास का दायरा बढता है। कोविड के दौरान दुनियाभर का ओपन डेटा उपलब्ध होने के कारण ही इस पर तेजी से रिसर्च की जा सकी है। यह बात विशेषज्ञों ने ओपन डेटा डे पर आयोजित आनलाइन पैनल डिस्कशन में व्यक्त किए। सागर स्मार्ट सिटी इन्क्यूबेशन सेंटर द्वारा ओपन डेटा हैकाथान के तहत किए गए इस आनलाइन आयोजन में नगर निगम आयुक्त आरपी अहिरवार, स्मार्ट सिटी सीइओ राहुल सिंह राजपूत समेत विषय विशेषज्ञ, स्कूल-कालेजों के प्रतिनिधि और करीब 400 युवा शामिल हुए।

स्पार्क इन्क्यूबेशन सेंटर पिछले लगभग एक वर्ष से सागर शहर और समूचे बुंदेलखंड में स्टार्टअप इकोसिस्टम को बढ़ावा देने का काम कर रहा है। शुक्रवार को आयोजित पैनल डिस्कशन में नगर निगम कमिश्नर आरपी अहिरवार ने कहा कि हम सालिड वेस्ट मैनेजमेंट, कचरा गाडी प्रबंधन, कोविड आदि का डेटा ओपन रखते हैं। कोई भी व्यक्ति इस डेटा का अध्ययन कर नए इनोवेशन कर सकता है। स्मार्ट सिटी सीइओ राहुल सिंह राजपूत ने ओपन डेटा का महत्व बताते हुए कहा कि कोविड का डेटा यदि ओपन नहीं होता तो इस पर काबू पाने के लिए जो उपाय इतने कम समय में किए गए, वे नहीं हो पाते। कार्यक्रम में सागर स्मार्ट सिटी के सीएस रजत गुप्ता, स्टार्टअप मेंटर व हैकाथान जूरी मेंबर निशांत मेहता, सुश्री मेघा शर्मा, सुश्री प्रीति चौधरी और दीप्तिमान चौधरी शामिल हुए। उन्होंने सागर शहर के युवाओं को संबोधित करते हुए बताया कि किस तरह ओपन डेटा हैकाथॉन के माध्यम से शहर की समस्याओं का समाधान किया जा सकता है।

डेटा के बारे में जागरूकता फैलाएगा

इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य वर्तमान में डिजिटल दुनिया में डेटा के महत्व को बढ़ावा देना है। यह डेटा उपयोग को बढ़ावा देने वाले अवसरों को बनाने के लिए एक मंच तैयार करेगा। यह आयोजन डेटा के बारे में जागरूकता फैलाएगा व डेटा के नए संयोजन तैयार करेगा, जिससे नई अंतर्दृष्टि और ज्ञान प्राप्त होगा, जिसके माध्यम से शहर की विभिन्ना प्रकार की समस्याओं का समाधान एवं विकास कार्यों में गति व उनकी मानिटरिंग की जा सकेगी। साथ ही इस आनलाइन कार्यक्रम में स्मार्ट सिटी के प्रतिनिधियों ने सागर स्मार्ट सिटी द्वारा चलाई जा रही विभिन्ना परियोजनाएं जैसे इंटीग्रेटेड कमांड एंड कण्ट्रोल सेंटर, सालिड वेस्ट मैनेजमेंट, इंटेलीजेंट ट्रांसमिट यूनिट और निर्भया एप के संचालन एवं उपयोग के बारे में भी बताया। कार्यक्रम के दौरान प्रतिभागियों ने ओपन डेटा को इस्तेमाल करने से संबंधित अपने आइडिया रखे, जिनके माध्यम से सागर शहर की विभिन्ना समस्याओं को हल किया जा सकता है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local