स्कूलों के बंद होने से बच्चों की पढ़ाई जारी रखने जिले में एक और प्रयास

फोटो------18 बीईई 1 : बैतूल। आठवीं कक्षा के छात्र शिवा ने बनाई मां दुर्गा की प्रतिमा।

बैतूल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। जिले के आदिवासी अंचलों में विराजी मां दुर्गा के पंडाल इस साल पढ़ाई-लिखाई के माध्यम भी बनेंगे। इसके साथ ही दुर्गा पंडालों में प्रसाद की जगह रेडियो का वितरण जरूरतमंद बच्चों को किया जाएगा, ताकि स्कूल बंद रहने पर भी उनकी पढ़ाई जारी रह सके। आदिवासी माध्यमिक शाला के प्रभारी शैलेंद्र बिहारिया ने बताया कि कोरोना काल में स्कूल बंद हैं और रेडियो व टीवी के माध्यम से ही पढ़ाई जारी है। इसलिए उन्होंने सभी दुर्गा पंडाल के प्रमुखों से अपील की है कि प्रतिदिन 11 से 12 बजे तक रेडियो अपने ध्वनि विस्तारक यंत्रो में बजाएं जिससे घर बैठे बच्चे रेडियो स्कूल सुन सके। जनशिक्षक प्रितमसिंग मरकाम व राज्यपाल पुरस्कार प्राप्त शिक्षक बिहारिया ने बताया कि अब विभिन्ना दुर्गा पंडालों में गरीब आदिवासी बच्चों को प्रसाद के रूप में रेडियो वितरित किए जाएंगे। इससे गरीब परिवारों के बच्चों को भी रेडियो उपलब्ध हो सकेंगे और वे अपनी पढ़ाई जारी रख सकेंगे।

छात्र ने बनाई दुर्गा जी की प्रतिमाः

आदिवासी माध्यमिक शाला सिमोरी की कक्षा 8 में पढ़ने वाले शिवा बेले ने 15 दिनों की मेहनत से ग्राम के पंडाल में स्थापित करने के लिए माता दुर्गा की प्रतिमा बनाई। शिक्षक बिहारिया ने बताया कि शैक्षिक क्षेत्र के अलावा सहशैक्षिक क्षेत्र में भी बच्चों की रुचि आवश्यक है। नई शिक्षा नीति का उद्देश्य है बच्चों का सर्वांगीण विकास। कोरोना काल में हमें आत्मनिर्भर बनना चाहिए। इसी उद्देश्य से शिवा द्वारा शक्ति की प्रतिमा का निर्माण किया गया है। स्कूली बच्चों द्वारा पूर्व में राखियां व गणेश प्रतिमा भी बनाई जा चुकी है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020