बीना (नवदुनिया न्यूज)। शासन से अनुमति लिए बिना पुलिस थाने के पास विशाल भजन संध्या का आयोजन कर हजारों की संख्या में विशाल जन समुदाय जुटाने वाले आयोजकों के खिलाफ पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। आयोजक समिति में शामिल छह आरोपितों के खिलाफ धारा 188, 269, 270, 3 महामारी अधिनियम और 51 (बी) आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर लिया है।

दरअसल सोमवार को प्रशासन की अनुमित के बिना सर्वोदय चौराहे पर भजन गायल शहनाज अख्तर की भजन संध्या आयोजित की गई थी। रात 8 से 11 बजे तक चली भजन संध्या में पांच हजार से ज्यादा लोगों की भीड़ जमा हुई थी। जबकि शासन स्तर पर इस तरह के आयोजनों पर पूरी तरह से प्रतिबंध हैं। बावजूद इसके पुलिस थाने के पास ही इतने बड़े पैमाने पर जन समूह एकत्रित किया गया था। शासन के नियमों की खुलेआम छज्जियां उड़ाई गई थीं। हैरानी की बात तो यह कि पुलिस ने तुरंत आयोजकों पर कार्रवाई करने के बजाए पुलिस सुरक्षा मुहैया कराई थी। इस मामले को नवदुनिया ने बुधवार को अंक में प्रमुखता से प्रकाशित किया। इसके चलते पुलिस ने दास्तान-ए-उड़ान और शीतला माता मंदिर समिति के सदस्य भूपेंद्र यादव, दीपू उर्फ दीपक यादव, हेमंत यादव, नीरज पटेल, अनमोल दुबे और गोपाल यादव के खिलाफ बुधवार को शासन के आदेश का उल्लंघन करने और आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर लिया है।

थाना प्रभारी बोले नहीं हुई कार्रवाई

बिना अनुमित विशाल भजन संध्या करने वालों के खिलाफ पुलिस ने बुधवार को मामला दर्ज कर लिया है, लेकिन थाना प्रभारी कमल निगवाल कार्रवाई से इंकार कर रहे हैं। उनका कहना है कि अभी इस मामले में किसी तरह की कार्रवाई नहीं की गई है। यह बात अपने आप में हैरान करने वाले है शासन के आदेश की छज्जियां उड़ाकर नियम विरुद्ध आयोजन करने वाले आरोपितों पर एफआईआर दर्जन करने के बाद भी पुलिस उनके नाम छिपा रही है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local