सागर(नवदुनिया प्रतिनिधि)। बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज के तीन जूनियर डॉक्टरों के रजिस्ट्रेशन रद्द करने के नोटिस वापस लेने सहित अन्य मांगों को मान लिए जाने के बाद बीएमसी के डॉक्टरों ने गुरुवार को अपनी हड़ताल स्थगित कर दी। कोरोना महामारी के बीच प्रदेश के दूसरे जिलों में भी डॉक्टरों के विरोध करने के बाद स्वास्थ मंत्री विश्वास सारंग के निर्देश पर एमपी एमसीआई ने अपनी कार्रवाई वापस ले ली जिसके बाद डॉक्टर भी काम पर लौट आए, लेकिन दोपहर तक बीएमसी पहुंचने वाले मरीज इलाज के लिए परेशान होते रहे।

बीएमसी के डॉक्टरों की अनिश्चितकालीन हड़ताल के दूसरे दिन अन्य कई संगठनों द्वारा प्रदर्शन स्थल पर आकर अपना समर्थन दिया था, लेकिन दोपहर 1 बजे मेडिकल कॉलेज के डीन डॉ. जीएस पटेल ने सभी के बीच पहुंचकर तीनों जूनियर डॉक्टरों पर की गई कार्रवाई को वापस ले लिए जाने की जानकारी दी। डीन ने प्रदर्शनकारियों के बीच पहुंचकर तीनों जूनियर डॉक्टरों की बहाली के पत्र भी दिए। इसके अलावा संभाग आयुक्त के निर्देश पर बीएमसी के सर्जरी विभाग के एचओडी डॉ. आरएस वर्मा का 4 महीने का वेतन भी रिलीज कर दिया है। इसके अलावा अन्य मांगों के संबंध में वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत करा दिया गया है। डॉक्टरों के आगे झुके प्रशासन द्वारा मांगें स्वीकार कर लेने से डॉक्टरों के चेहरे खिल उठे और वह पूर्व की तरह काम पर लौट आए और मेडिकल टीचर्स एसोसिएशन अध्यक्ष डॉ. सर्वेश जैन से हड़ताल स्थगित करने की घोषणा की।

दूसरे दिन भी इलाज के लिए परेशान हुए मरीज

हड़ताल गुरुवार को दूसरे दिन भी जारी रहने से सुबह से बीएमसी आने वाले मरीज इलाज के लिए परेशान होते रहे। डॉक्टरों की हड़ताल दोपहर 2 बजे तक रही। ओपीडी समय के दौरान डॉक्टर हड़ताल पर ही थे, जिस कारण ओपीडी में चेकअप कराने पहुंचे मरीजों का इलाज नहीं मिला। हालांकि हड़ताल की जानकारी होने से अधिकांश मरीज बीएमसी नहीं आए थे, लेकिन हड़ताल की सूचना न होने से कई मरीज बीएमसी पहुंच गए थे। यहां जब इलाज नहीं हुआ तो वह निजी डॉक्टरों की क्लीनिकों में भी इलाज कराने पहुंचे। इस दौरान कोविड-19 व आकस्मिक चिकित्सा ही उपलब्ध कराई जा रही थी।

-----------------------------------

विधायक ने हस्तक्षेप करते हुए मंत्री से कराई बात

बीएमसी के डॉक्टरों की हड़ताल व मरीजों के हित को देखते हुए विधायक शैलेंद्र जैन ने मामले में हस्तक्षेप करते हुए मंत्री विश्वास सारंग को अवगत कराया। अधिकारियों की बात न माने जाने के बाद विधायक ने सुबह से ही प्रयास शुरू कर दिए थे और हड़ताल समाप्त कराने के प्रयास किए। इसके बाद मंत्री की पहल पर नोटिस को वापस ले लिया गया व अन्य मांगों की जांच के बाद निर्णय लेने का आश्वासन दिया। उल्लेखनीय है कि विभिन्ना संगठनों के समर्थन के बाद प्रदेश के दूसरे जिलों में भी प्रदर्शन हुआ था।

इनका कहना ...

हमारी हड़ताल स्थगित हुई है

हमारी मुख्य मांगों को मान लिए जाने के बाद हमने अपनी हड़ताल स्थगित कर दी है। हमारी दूसरी मांगों के संबंध में आश्वासन दिया गया है जिस पर जल्द निर्णय होगा। इसलिए हमने कोरोना महामारी व मरीजों के हित में अपनी हड़ताल स्थगित कर दी है।

- डॉ. सर्वेश जैन, अध्यक्ष, चिकित्सा शिक्षा संघ

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस