सागर (नवदुनिया प्रतिनिधि)। अमृत सरोवर और पुष्कर धरोहर के कार्य समय सीमा में पूर्ण करें। तालाब बनने से जिले के जल संरक्षण की दिशा में बड़ा बदलाव आएगा। यह निर्देश कलेक्टर दीपक आर्य ने ग्रामीण विकास विभाग की समीक्षा बैठक मे दिए। इस अवसर पर जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी क्षितिज सिंगल, समस्त जनपद पंचायतों के मुख्य कार्यपालन अधिकारी एवं अन्य संबंधित अधिकारी मौजूद थे। कलेक्टर दीपक आर्य ने ग्रामीण विकास विभाग के निर्माण कार्यों की समीक्षा करते हुए निर्देश दिए कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निर्देश पर प्रत्येक जिले में आजादी के अमृत महोत्सव के अवसर पर 75 अमृत सरोवरों का निर्माण किया जाना है।

इसके तहत सागर में 111 अमृत सरोवरों का निर्माण किया जा रहा है, ये सभी कार्य 10 जून तक पूर्ण करें। उन्होंने कहा कि इसी प्रकार मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की महत्वकांक्षी योजना पुष्कर धरोहर के कार्य भी समय सीमा में करें। उन्होंने कहा कि अमृत सरोवर एवं पुष्कर धरोहर का कार्य पूर्ण होने पर जिले में सिंचाई का रकबा बढ़ेगा। इसी प्रकार खेत तालाब के माध्यम से जिले में जल संरक्षण भी सुनिश्चित किया जाए। कलेक्टर श्री आर्य ने कहा कि अमृत सरोवर के कार्यो में जिले के समस्त सहायक यंत्री एवं उपयंत्री आपसी समन्वय स्थापित करें, इससे समय पर अच्छा कार्य हो। जिले में 2 हजार से अधिक खेत तालाब अपूर्ण हैं, जिस पर सख्त निर्देश दिए गए कि खेत तालाब का कार्य भी पूर्ण करें।

पुष्कर धरोहर के 137 कार्यों में विलंब पर उन्होंने कहा कि ये कार्य आगामी 3 दिवस में प्रारंभ कराएं। आगामी साप्ताहिक समीक्षा बैठक तक कार्य प्रारंभ न होने पर संबंधित उपयंत्री एवं सहायक यंत्री के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी क्षितिज सिंघल ने कहा कि शासन के निर्देशानुसार अमृत सरोवर एवं पुष्कर धरोहरों के कार्य पूरी गुणवत्ता के साथ समय सीमा में पूर्ण करें। उन्होंने कहा कि जिस विकासखंड में अमृत सरोवर का कार्य 10 जून तक पूर्ण नहीं होगा, संबंधित अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई सुनिश्चित की जाएगी। श्री सिंघल ने कहा कि इसी प्रकार पुष्कर धरोहरों कार्य भी तीव्र गति के साथ किए जाए।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close