सागर (नवदुनिया प्रतिनिधि)। खुरई में कांग्रेस व भाजपा के प्रदर्शन के दौरान हुई झड़प व पुलिस के लाठीचार्ज को लेकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं द्वारा शुक्रवार को आयोजित किया गया धरना, प्रदर्शन व आंदोलन सफल नहीं हो पाया। इस पूरे घटनाक्रम को लेकर सागर की पुलिस पूरी तरह अलर्ट पर रही। सुबह से ही पुलिस ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर नजर रखी। पूर्व मंत्री सुरेंद्र चौधरी, जिला कांग्रेस अध्यक्ष रेखा चौधरी, जिला ग्रामीण कांग्रेस अध्यक्ष सुदेश जैन सहित अन्य वरिष्ठ कांग्रेस कार्यकर्ताओं को पुलिस ने उनके घर या कार्यालय में ही नजर बंद किया गया। वहीं युवक कांग्रेस के कई कार्यकर्ताओं को पुलिस ने गिरफ्तार किया, जहां से इन्हें खुली जेल लाया गया। वहीं प्रदर्शन में हिस्सा लेने के लिए आ रहे युवक कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष विक्रांत भूरिया को पुलिस ने राहतगढ़ थाना क्षेत्र के ऐरन मिर्जापुर गांव के पास ही रोक लिया। पुलिस द्वारा रोके जाने पर श्री भूरिया सहित अन्य कार्यकर्ताओं ने यहां करीब दो घंटे तक धरना दिया। इसके बाद इन्हें राहतगढ़ ले जाया गया। जहां नजर बंद किया गया। शाम को खुली जेल व नजरबंद से छोड़े जाने के बाद कार्यकर्ता राहतगढ़ पहुंचे, जहां एसपी व कलेक्टर की साथ चर्चा की।

युवक कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष को ऐरन मिर्जा गांव में रोका

सागर में आयोजित प्रदर्शन व ज्ञापन देने के आयोजन में शामिल होने के लिए युवक कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष विक्रांत भूरिया सागर आ रहे थे, इन्हें पुलिस ने राहतगढ़ थाना क्षेत्र के ऐरन मिर्जा गांव में रोक लिया। इससे नाराज श्री भूरिया वहीं पर धरने पर बैठ गए। वे कलेक्टर व एसपी को बुलाने की मांग कर रहे थे। दो घंटे बाद उन्हें राहतगढ़ रेस्ट हाउस ले जाया गया, जहां कलेक्टर व एसपी भी पहुंचे।

कलेक्ट्रेट व एसपी कार्यालय में चप्पे-चप्पे पर तैनात रही पुलिस

कांग्रेस द्वारा शुक्रवार को दोपहर एक बजे प्रदर्शन किए जाने की घोषणा के बाद सुबह से ही पुलिस कलेक्ट्रेट व एसपी कार्यालय में चप्पे-चप्पे पर तैनात रही। इस दौरान आने-जाने वाले रास्तों पर बैरीगेट्स लगा दिए गए। जहां आने-जाने वालों को भी परेशानी हुई। कलेक्ट्रेट के बाजू से जाने वाले कच्चे रास्ते को पूरी तरह बंद कर दिया। इससे लोग परेशान होते रहे। एसपी कार्यालय में भी केवल पुलिए अधिकारियों के वाहन आने-जाने दिए। इसके अलावा अन्य लोगों के वाहनों के प्रवेश पर पूरी तरह मनाही रही।

वरिष्ठ नेता नजर बंद, युवा कार्यकर्ता खुली जेल में

प्रदर्शन के दौरान माहौल बिगड़ने की आशंका के चलते पुलिस ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं के घरों पर सुबह से ही निगरानी रखी। पूर्व मंत्री सुरेंद्र चौधरी सहित अन्य कार्यकर्ताओं को उनके घर पर ही नजर बंद किया गया। वहीं तीनबत्ती स्थित कांग्रेस कार्यालय में पुलिस ने यहां मौजूद 60 से 70 कार्यकर्ताओं को नजर बंद रखा। इसके अलावा युवक कांग्रेस के मुन्नाा चौबे, सुरेंद्र चौबे, राहुल चौबे, चैतन्य पांडेय, शैलू सेंगर, अतुल नेमा, निखिल चौकसे, रिषभ जैन, वसीम खान, महेश जाटव, जित्तू खटीक सहित अन्य कार्यकर्ता शामिल थे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local