सागर(नवदुनिया प्रतिनिधि)।

जिले में कोरोना महामारी को कंट्रोल करने के लिए गुरुवार को देर शाम कोरोना वैक्सीन कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच सागर पहुंच गई। वैक्सीन को जिला अस्पताल के स्टोर सेंटर में रखा गया है। वैक्सीन लगाने की अंतिम तैयारियां पूरी करने के साथ ही गुरुवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कलेक्टर दीपक सिंह से चर्चा कर आवश्यक निर्देश दिए। लॉक डाउन में हुई तमाम परेशानियों के बाद 16 जनवरी को देश के सबसे बड़े टीकाकरण अभियान की शुरुआत होगी।

ग्वालियर से सागर के लिए भेजी गई वैक्सीन कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच रात में सीधे जिला अस्पताल परिसर पहुंची। इस दौरान वाहनों पर भी नजर रखी गई। यहां जिले में पहले चरण के लिए वैक्सीनेशन के लिए 12 हजार डोज प्राप्त हुए हैं, जिससे 11016 स्वास्थ्य कर्मचारियों का टीकाकरण किया जाएगा। कलेक्टर दीपक सिंह सहित अन्य अधिकारियों ने यहां भंडारण व्यवस्था की जानकारी ली। वहीं दोपहर में मुख्यमंत्री ने वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से सागर सहित संभाग के कलेक्टरों से चर्चा करते हुए कहा कि कोरोना वायरस से बचाव के लिए वैक्सीन आ गई है जो किसी संजीवनी बूटी से कम नहीं है। नागरिकों को क्रमानुसार इसका लाभ मिलेगा। टीकाकरण के प्रथम चरण में हमारी जान बचाने वाले हेल्थ केयर वर्कर्स को टीका लगाया जाएगा। मुख्यमंत्री ने आव्हान किया कि जिलों के प्रशासनिक अधिकारी, जनप्रतिनिधि, मीडिया इस संबंध में किसी भी अफवाहों को न पनपने दें और इस महाभियान को सभी मिलकर सफल बनाने में सहयोग दें।

संकट में साथ देने वाले सफाई कर्मचारी को लगे पहला टीका

जिले में 16 जनवरी को सुबह 9 बजे से अभियान शुरू होगा। पहला टीका किसी सफाई कर्मचारी को लगाने का प्रयास है, क्योंकि यह सफाई कर्मियों की सेवाओं का सम्मान भी होगा जो कोरोना के संकटकाल में उन्होंने प्रदान की हैं। उल्लेखनीय है कि इसके पूर्व सबसे पहले सीएमएचओ को टीका लगाने की तैयारी की जा रही थी। इस दौरान सागर एनआइसी कक्ष में सागर कमिश्नर मुकेश शुक्ला, कलेक्टर दीपक सिंह, बीएमसी डीन डॉ. आरएस वर्मा, मुख्य चिकित्सा स्वास्थ्य अधिकारी डॉक्टर आइएस ठाकुर, सिविल सर्जन डॉ. गायकवाड उपस्थित थे।

महाअभियान के दौरान लगेंगे दो टीके

6 जनवरी से प्रारंभ हो रहे अभियान के लिए जिलों को आवश्यक निर्देश दिए गए हैं। केन्द्र सरकार द्वारा वैक्सीन की सेफ्टी की पुष्टि की गई है। प्रत्येक नागरिक को दो डोज लगेंगे। पहला डोज लगने के 28 दिन बाद एक बार फिर इंजेक्शन लगेगा। 14 दिन बाद मानव शरीर में एंटी बॉडी का निर्माण होगा। टीका लगने के बाद तत्काल प्रभाव नहीं होता है। अभियान के दौरान जिला प्रशासन सभी धर्म गुरुओं को वैक्सीन लगाने की इस प्राथमिकता की जानकारी देगा। इस महाभियान से संबंधित कोई अफवाह फैले इसलिए प्रशासन द्वारा उसे सही जानकारी देकर समझाया जाएगा। प्रथम चरण में हेल्थ वर्कर्स, द्वितीय चरण में फ्रंट लाइन वर्कर्स का टीकाकरण होगा। तृतीय चरण में पचास वर्ष की आयु से अधिक सभी नागरिकों व ऐसे नागरिकों जो 50 वर्ष से कम आयु के हैं, लेकिन मधुमेह और उच्च रक्तचाप की समस्या से ग्रस्त हैं उनका टीकाकरण किया जाएगा।

कोविड वैक्सीनेशन के संबंध में उन्मुखीकरण कार्यक्रम आज

16 जनवरी से शुरू होने जा रहे कोविड-19 वैक्सीनेशन के संबंध में सागर जिला प्रशासन द्वारा शुक्रवार को सुबह 11ः30 बजे उन्मुखीकरण कार्यक्रम आयोजित किया गया है। समाज में कोविड-19 टीकाकरण के संबंध मे सकारात्मक वातावरण बनाए रखना और कोरोना महामारी के विरुद्ध एकजुटता रहना आवश्यक है। इस संबंध कोविड-19 वैक्सीनेशन से संबंध में कमिश्नर मुकेश शुक्ला एवं कलेक्टर दीपक सिंह की उपस्थिति में बैठक का आयोजन किया जा रहा है। बैठक में सागर जिले के सभी जनप्रतिनिधि, गणमान्य नागरिक व मीडिया को आमंत्रित किया गया है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस