सागर(नवदुनिया प्रतिनिधि)। घर मे घुसकर युवती से छेड़छाड़ करने वाले आरोपित की जमानत याचिका को खारिज करते हुए बीना के प्रथम श्रेणी न्यायिक मजिस्ट्रेट नीलेंद्र कुमार तिवारी के न्यायालय ने जेल भेजने के आदेश दिए हैं।

राज्य शासन की ओर से सहा. जिला अभियोजन अधिकारी श्याम सुंदर गुप्ता ने शासन का पक्ष रखते हुए बताया कि पीड़िता जो कि अपनी दीदी-जीजा के यहां आई हुई थी। दिनांक 28 अक्टूबर 2020 को दीदी, जीजा काम पर गए थे और जीजा का मोबाइल घर पर छूट गया था। दोपहर करीब 12ः30 बजे आरोपित अंशुल अहिरवार आया और बोला कि मोबाइल दे दो, तुम्हारे जीजा ने मंगाया है। युवती ने कहा कि थोड़ी देर से मोबाइल देते हैं, पहले बात कर लेने दो। आरोपित पीड़ित युवती के पीछे उसके घर में घुस गया और उसके साथ छेड़छाड़ करने लगा। युवती चिल्लाई तो उसे धक्का देकर भाग गया और धमकी दी कि अगर किसी को बताया तो देख लेगा।

आरोपित को गिरफ्तार कर जेल भेजा

पीड़िता ने अपने जीजा को इस घटना के बारे में बताया और दीदी जीजा के साथ थाना आगासौद में उपस्थित होकर उसने लिखित आवेदन दिया। थाना आगासौद ने प्रकरण अंतर्गत धारा 452, 354, 506 भादवि पंजीबद्ध कर विवेचना में लेकर आरोपित को गिरफ्तार किया गया। आरोपित के अधिवक्ता ने जमानत आवेदन न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत किया, जहां अभियोजन ने जमानत आवेदन का विरोध करते हुए महत्वपूर्ण तर्क प्रस्तुत किए। न्यायालय ने दोनों पक्षों को सुनने के बाद अपराध की गंभीरता को देखते हुए व अभियोजन के तर्कों से सहमत होकर आरोपित अंशुल पिता गोवर्धन अहिरवार उम्र 23 साल का प्रस्तुत जमानत आवेदन निरस्त कर खुरई उप जेल भेजने के आदेश दिए।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस