- मुहली व बमौरी सहकारी समिति द्वारा गड़बड़ी किए जाने की शिकायत, जांच की मांग

केवलारीकलां (नवदुनिया न्यूज)।

केसली तहसील के किसानों ने सागर आकर एक ओर फर्जी किसान क्रेडिट कार्ड बनाकर लाखों रुपए निकाले जाने की शिकायत की है। डिप्टी कलेक्टर अमृता गर्ग को यह ज्ञापन भारतीय किसान यूनियन के जिलाध्यक्ष धर्मेंद्र सिंह राजपूत के नेतृत्व में दिया गया। अबकी बार सेवा सहकारी समिति बमोरी एवं मुहली की गई है। डिप्टी कलेक्टर को आपबीती सुनाते हुए किसानों ने आरोप लगाए कि केसली तहसील की सेवा सहकारी समिति मुहली के समिति प्रबंधक ने भूमिहीन किसान पार्वती पति डेलन सिंह एवं राजेश पिता महेश शर्मा बेड़ार का केसीसी बनाकर फर्जी तरीके से राशि निकाली। उन्होंने कहा कि जब किसी व्यक्ति के नाम पर जमीन ही नहीं है तो उसके नाम पर केसीसी कैसे बना। इसी तरह मृत किसान गोविंद रैकवार के नाम पर भी केसीसी बनाकर राशि निकाली गई। सिंहपुर निवासी सुनील पिता बहादुर का केसीसी सेवा सहकारी समिति बम्होरी से बनाया गया। राशि का आहरण फर्जी तरीके से सहकारी बैंक केसली के माध्यम से हुआ। किसानों ने ठगे गए 55 कृषकों की सूची, सभी जिम्मेदार अधिकारियों को सौंपी है। उन्होंने मांग की है कि शीघ्रता से इस फर्जीवाड़े की जांच की जाए। जांच होने तक सहकारी बैंक केसली के शाखा प्रबंधक टीआर आठया को पद से हटाया जाए, जिससे कि जांच निष्पक्ष रूप से हो सके। डिप्टी कलेक्टर ने जांच के निर्देश दिए हैं।

मंगलवार को किसानों ने ज्ञापन दिया था। उसमें 55 किसानों के नाम हैं। किसानों ने आरोप लगाया कि उनके नाम पर फर्जी केसीसी बनाकर राशि निकाली गई है। मैंने जांच टीम बना दी है। आज कुछ अधिकारी जिला सहकारी बैंक शाखा केसली में जांच करने के लिए गए हैं। जांच में जो सामने आएगा। उसके बाद ही आगे की कार्रवाई होगी। पलोह समिति के मामले में उपायुक्त सहकारिता सागर ने कार्रवाई की है।

डीके राय, प्रबंधक जिला सहकारी बैंक, सागर।

केसली क्षेत्र के किसानों द्वारा ज्ञापन सौंपे जाने की जानकारी है। उनके साथ किसान क्रेडिट कार्ड के नाम पर धोखाधड़ी हुई है तो मैं जांच कराता हूं। अभी छुट्टी पर हूं। वापस आने पर इस संबंध में प्रभावी कार्रवाई करेंगे।

शिव प्रकाश कौशिक, उपायुक्त, सहकारिता सागर।

2602 एसजीआर 1519 केवलारीकलां। केसली से सागर पहुंचकर शिकायत करते किसान।

Posted By: Nai Dunia News Network