बीना, नवदुनिया प्रतिनिधि। जगन्नाथपुरी में शांति पैलेस से 23 नवंबर को लापता हुई युवती का शव शनिवार को समुद्र किनारे पानी में अर्द्धनग्न अवस्‍था में मिला है। युवती के भाई का कहना है कि उसकी बहन की हत्या से पहले उसके साथ दरिंदगी की गई है। अज्ञात बदमाशों ने एसिड से युवती का चेहरा जलाने के साथ ही उसके हाथ की अंगुलियां काट दी हैं। इस घटना से बीनावासियों में भारी आक्रोश है। विरोध स्वरुप लोगों ने शनिवार को शहर बंद का आयोजन किया और सर्वोदय चौराहे पर एकत्रित होकर प्रदर्शन किया। आरोपितों की जल्‍द गिरफ्तारी के साथ-साथ परिवार की मदद न करने वाली ओडिशा पुलिस के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है।

गौरतलब है कि सागर की बीना तहसील अंतर्गत आने वाले आगासौद निवासी एक युवती अपने माता-पिता और भाई के साथ जगन्नाथपुरी की यात्रा पर गई थी। 19 नवंबर को जगन्नाथपुरी पहुंचा परिवार शांति पैलेस में रुका था। 23 तारीख की सुबह होटल से बाहर निकली युवती लापता हो गई थी। परिवार वालों ने पूरे दिन युवती की जगन्नाथ पुरी में तलाश की, लेकिन कहीं पता नहीं चला। युवती के माता-पिता स्थानीय थाने में शिकायत दर्ज कराने पहुंचे, लेकिन पुलिस न सहयोग नहीं किया। इसके अलावा होटल संचालक ने भी सीसीटीवी फुटेज देने से मना कर दिया। बार-बार मिन्नतें करने के बाद पुलिस ने दूसरे दिन गुमशुदगी दर्ज की। लेकिन पुलिस ने युवती की तलाश करने में सहयोग नहीं किया।

युवती के भाई ने बताया कि शनिवार को युवती का शव अर्द्धनग्न अवस्था में समुद्र किनारे पानी में मिला है। परिजनों का आरोप है कि शव को देखकर लग रहा है कि उसके साथ दरिंदगी हुई है। इसके साथ ही उसे यातनाएं देकर बेरहमी हत्या कर शव पानी में फेंक दिया। पहचान मिटाने के लिए एसिड से चेहरा जला दिया गया है। इस घटना से शहरवासियों में भारी आक्रोश है। सुबह करीब 11:30 बजे शहर वासियों ने बाजार बंद कराकर सर्वोदय चौराहे पर प्रदर्शन किया।

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close