सागर (नवदुनिया प्रतिनिधि)। राहतगढ़ जनपद पंचायत की जनपद पंचायत सदस्य पीपलखेड़ी निवासी संजना आदिवासी ने एसपी कार्यालय पहुंचकर उनका अहपरण करने वाले आरोपितों पर कार्रवाई किए जाने की मांग की है। संजना आदिवासी ने बताया कि उन्होंने जनपद पंचायत राहतगढ़ के वार्ड क्रमांक 12 से जनपद सदस्य का चुनाव लड़ा था। इसमें मैं विजय रही लेकिन राहतगढ़ जनपद अध्यक्ष का पद महिला आदिवासी के लिए आरक्षित था और मैं अध्यक्ष पद की दावेदारी कर रही थी। तभी मुझे 24 जुलाई 2022 को अजब सिंह यादव काटीघाटी एवं कृष्णवीर यादव लव्छनपुर द्वारा निजी वाहन से जनपद अध्यक्ष पद के चुनाव के चार दिन पहले मेरा व मेरे पति दुरग सिंह का अपहरण कर लिया। वे गांव हमें अपने साथ गांव से ले गए और सागर, उज्जैन, ओंकारेश्वर, इंदौर, देवास, विदिशा घुमाया। इसके बाद सागर लाए। सागर में हमें अलग-अलग स्थानों पर रख कर यातनाएं दी गईं। हमें किसी रिश्तेदार और संबंधियों से नहीं मिलना दिया। इससे मैं जनपद अध्यक्ष पद का चुनाव नहीं लड़ पाई। इससे मेरा मन बहुत शुब्ध है। इस बात की शिकायत मैंने थाना राहतगढ़ में प्रकरण दर्ज कराई थी लेकिन आज तक आरोपितों पर कोई कार्रवाई नहीं की गई और दोषी अपहरणकर्ता निभीक होकर खुलेआम बाहर घूम रहे हैं। मुझे ज्ञात हुआ है कि मेरे अपहरण की साजिश के पीछे नरयावली निवासी पूर्व जनपद सदस्य कैलाश यादव का हाथ है एवं इन्हीं के संरक्षण में इस वारदात को अंजाम दिया गया है। इन्हीं के राजनीतिक दबाव के चलते पुलिस आरोपितों पर कोई कार्रवाई नहीं कर रही है। इससे मैं बहुत दुखी हूं। जप सदस्य संजना आदिवासी का कहना है कि इसके घटना के साजिशकर्ता सहित अन्य आरोपितों पर शीघ्र कार्रवाई की जाए। ऐसा न होने पर वे आगामी विधानसभा सत्र के दौरान विधानसभा के बाहर बैठकर तब तक भूख हड़ताल करूंगी। जब तक मुझे न्याय नहीं मिलेगा मैं विरोध जारी रखूंगी।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close