सागर(नवदुनिया प्रतिनिधि)।

स्टोन पिचिंग का बचा हुआ काम तेजी से पूरा किया जाए। घाटों के निर्माण में और गति लाई जाए, जिससे बारिश से पहले इनका निचले स्तर का काम पूरा हो सके। यह निर्देश कलेक्टर सह अध्यक्ष एसएससीएल दीपक आर्य ने शनिवार को लाखा बंजारा झील कायाकल्प परियोजना का निरीक्षण करते हुए दिए।

कलेक्टर श्री आर्य ने नगर निगम आयुक्त सह कार्यकारी निदेशक एसएससीएल आरपी अहिरवार और स्मार्ट सिटी सीइओ राहुल सिंह राजपूत के साथ झील का निरीक्षण करते हुए अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए। उन्होंने संजय ड्राइव रोड के पास सरदार सरोवर घाट पर लगाए जा रहे लाल पत्थर का काम देखा और निर्देश दिए कि सभी घाट न सिर्फ सुंदर बने, बल्कि यहां आने वाले लोगों के लिए सुविधाजनक भी होने चाहिए। इसके बाद उन्होंने नाला टेपिंग, इंबैंकमेंट और स्टोन पिचिंग के काम का निरीक्षण किया। कलेक्टर ने कहा कि स्टोन पिचिंग का जितना भी काम बचा हुआ है उसे तेजी से पूरा किया जाए। इसके लिए मजदूरों की संख्या बढ़ाई जाए और पर्याप्त मात्रा में स्टोन का स्टाक भी होना चाहिए।

सभी घाटों की नीचे की सीढ़ियों का निर्माण पूरा किया जाए

उन्होंने कहा कि स्टोन पिचिंग का काम पहले झील की तलहटी की तरफ पूरा किया जाए, जिससे बारिश आने की स्थिति में काम प्रभावित न हो। इसके बाद अधिकारियों ने मोंगा बंधान का निरीक्षण किया और निर्देश दिए कि इस पर बन रहे वाकवे का काम जल्द से जल्द पूरा किया जाए, जिससे गेट लगाए जा सकें। इसके बाद उन्होंने अन्य घाटों के निर्माण कार्य का निरीक्षण किया और निर्देश दिए कि सबसे पहले सभी घाटों की नीचे की सीढ़ियों का निर्माण पूरा किया जाए। कलेक्टर श्री आर्य ने कहा कि इस माह के अंत तक ऐसे सभी काम पूरे किए जाएं, जो बारिश के कारण प्रभावित हो सकते हैं। अन्य कार्य बारिश के दौरान भी किए जा सकते हैं। निरीक्षण के दौरान स्मार्ट सिटी व पीएमसी के इंजीनियर्स और निर्माण एजेंसी के प्रतिनिधि मौजूद थे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local