सागर/देवरीकला/राहतगढ़ (नवदुनिया न्यूज)। अमृत सरोवर योजना के तहत निर्मित हो रहे तालाब जल संरक्षण के लिए वरदान साबित होंगे। देवरीकला, राहतगढ़ और केसली ब्लाक में आधे से ज्यादा सरोवर तैयार हो चुके हैं, कुछ का काम पूर्णता की ओर है। इन तालाबों में लाखों गैलन पानी संरक्षित होगा। इससे भूमिगत जल स्तर बढ़ेगा और गांवों में जलसंकट की संभावनाएं भी कम रहेंगी।

देवरी विकासखंड के अधिकांश गांव गर्मी के दिनों में पानी की समस्या से जूझते हैं। जिसके निदान के लिए ब्लाक की 10 ग्राम पंचायतों में अमृत सरोवर (तालाब) निर्माण का कार्य आरंभ हो चुका है। सभी के लिए लगभग एक करोड़ 32 लाख की राशि स्वीकृत की गई है। इन तालाबों के निर्माण से लगभग एक लाख 61 हजार घनमीटर जल भराव होगा। ग्राम पंचायत मानेगांव जहां पेयजल के लिए लोग तरसते थे, आज वहां 22500 घन मीटर क्षमता का तालाब बन रहा है। पंचायत सरपंच के अनुसार तालाब के समीप आदिवासी लोगों को पट्टे दिए गए थे। जिनमें खेती करना दूभर था, लेकिन सरोवर निर्माण से वहां के आदिवासियों में खुशी देखी जा रही है। चिरचिटा सुखजू जो कि लगभग पूर्णतः आदिवासी बाहुल्य क्षेत्र है। यहां भी तालाब निर्माण करने से लोगों को पर्याप्त खेती के लिए जल उपलब्ध होने के साथ ही मछली पालन किया जा सकेगा। ग्राम पंचायत सिमरिया के गांव श्रीनगर में निरंतर जलस्तर नीचे जाने के कारण बोर सूख चुके हैं। जन सहयोग व प्रशासन के द्वारा कदम उठाने पर आज वहां 11250 घन मीटर क्षमता का तालाब लगभग बन गया है। ग्राम पंचायत सुना पंजरा में समय के साथ जल स्तर कम हुआ। यहां के लोग भी तालाब बनने से खुश हैं।

- पशु को भी नहीं था पीने पानी

ग्राम पंचायत झामरा में पशुओं को भी पीने के लिए पानी उपलब्ध नहीं था। खेती के लिए भूमिगत जलस्रोत सूख चुके हैं। ट्यूबवैलों से भी पानी नहीं आ रहा है। ऐसे में तालाब निर्माण के बाद जब जल का भराव होगा तो किसान लाभान्वित होंगे।

वीरेंद्र यादव, स्थानीय ग्रामीण

- 70 फीसदी कार्य पूर्ण

ग्राम पंचायत चिरचिटा सुखजू के ग्राम रमन्नाा, सिंगपुर पंचायत में ग्राम फूटा ताल, बेरखेरी-राजा, सिमरिया ग्राम पंचायत के ग्राम श्रीनगर, झमारा पंचायत के ग्रामपुटदेही, भर्रई ग्राम पंचायत सुना पंजरा के सुना और गुंदराई आदि अमृत सरोवर तालाब 70 फीसद तक बन चुके हैं। वही ग्राम मुडेऱी और मानेगांव के तालाबों का 50 प्रतिशत काम हो चुका है।

देवेंद्र जैन, सीईओ, देवरी

तेरह तालाबों में भरेगा चार लाख घनमीटर

राहतगढ़ ब्लाक में अमृत सरोवर योजना के तहत कुल तेरह तालाबों का निर्माण जारी है। इनमें से सात तालाब लगभग पूर्णता की ओर हैं। छह का काम 10 जून तक पूरा होने की उम्मीद है। सरकारी आंकड़ों के अनुसार इन सभी तालाबों में लगभग चार लाख घनमीटर पानी का भराव होगा।

भीषण गर्मी, कम होता भूमिगत जल स्तर ने लोगों को चिंता में डाल दिया है। अमृत महोत्सव के तहत सरकार ने हर ब्लाक में सरोवर बनाने के निर्देश दिए थे। इसके लिए ब्लाक में 13 तालाब बनाए जा रहे हैं। जानकारी अनुसार ओसानखेड़ी, दरकौली, परासरी खुर्द, बासोदा, मानकचौक, गढ़ौलीकला, रानीपुरा में लगभग 77 हजार घनमीटर पानी का भराव होगा। जलंधर, ईसरवारा, बरोदिया गुसाईं, सीहोरा, खजुरिया गुरू, भापेल में लगभग तीन लाख घनमीटर पानी का भराव होगा। सभी तालाबों की लागत चार करोड़ के आसपास है। सीईओ एसके प्रजापति ने बताया कि सात तालाबों का काम पूर्णता की ओर है। इनमें ओसानखेड़ी, दरकौली, परासरी खुर्द, बासोदा, मानकचौक, गढ़ौलीकला और रानी पुरा शामिल हैं। इनके अतिरिक्त जलंधर, ईसरवारा, बरोदियागुसाईं, सीहोरा, खजुरिया गुरू, भापेल का काम 10 जून तक पूरा हो जाएगा।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close